• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

नोटबंदी से भक्ति पर भी पड़ा असर, कैशलेस हो रहे मंदिर

Note ban had an impact on the devotion, Temples set to be cashless - Jaipur News in Hindi

जयपुर। नोटबंदी के बाद बदले हालात को देखते कैशलेस होने की बातेंं हो रही हैं। अब इनमें मंदिर भी शामिल हो गए हैं। कैश की कमी ने मंदिरों के दानपात्रों का वजन हल्का कर दिया है। चंदा, चढ़ावा कम होने का असर तिथि-त्योहारों के आयोजनों और भगवान के भोग-प्रसाद पर भी पड़ा है। जयपुर के मंदिरों में नोटबंदी के कारण दान व चंदा 30 से 70 प्रतिशत तक कम हुआ है। इससे निजात पाने के लिए मंदिर प्रबंधन भी स्वाइप मशीन के जरिए चंदा ले रहे हैं। मानसरोवर के इस्कॉन मंदिर में स्वाइप मशीनों की शुरुआत हो चुकी है। शृंगार आदि के लिए इसी के जरिए पैसा लिया जा रहा है। शहर के आराध्य श्रीराधा-गोविंददेवजी मंदिर में चेक से दान-चढ़ावा लिया जा रहा है। मंदिर प्रबंधक मानस गोस्वामी ने बताया कि छप्पन भोग आदि के लिए चेक से ही राशि ले रहे हैं। मंदिर में स्वाइप मशीनें लगाने के लिए अभी बैंक से एग्रीमेंट साइन का प्रोसेस चल रहा है। नववर्ष में सभी प्रमुख मंदिर कैशलेस इकोनॉमी से जुड़ जाएंगे। मंदिर ट्रस्ट नरवर आश्रम सेवा समिति महामंत्री पंडित बृजमोहन शर्मा और राजापार्क गुरुद्वारा के गुरमीत सिंह के अलावा अन्य मंदिर के पुजारियों ने बताया कि वे नए साल से स्वाइप मशीनें लगाएंगे। मानसरोवर के इस्कॉन मंदिर में चार स्वाइप मशीनें लगा दी गई हैं। मुख्य मंदिर स्थल, भोजनालय, अतिथि निवास व रेस्त्रां में ये मशीन लगाई गई हैं। मंदिर अध्यक्ष पंचरत्नदास ने बताया कि हमारे यहां 30-50 प्रतिशत चढ़ावा कम हो गया था। इस कारण स्वाइप मशीनें लगानी पड़ीं। चेक और ऑनलाइन से भी हम भेंट-चढ़ावा ले रहे हैं। नोटबंदी से चंदा, चढ़ावा आदि में 70 प्रतिशत तक की गिरावट आई है। खोले के हनुमान मंदिर में चढ़ावा 25 प्रतिशत ही रह गया है। घाट के बालाजी मंदिर महंत सुदर्शनाचार्य ने तो यहां तक कहा कि मंदिर में हर वर्ष होने वाला पौष बड़ा उत्सव इस बार नहीं कर पाएंंगे, क्योंकि इतनी भेंट-सेवा मंदिर को नहीं मिल पाई है। बड़ी चौपड़ स्थित लक्ष्मीनारायण धाम के महंत महामंडलेश्वर पुरुषोत्तम भारती बताते हैं कि चढ़ावा 50 प्रतिशत कम हुआ है। चांदपोल के प्राचीन श्रीरामचंद्रजी मंदिर में कम चढ़ावा आने से इस बार बिजली का बिल भरना भी मुश्किल हो रहा है। शुक संप्रदायाचार्य पीठ सरस निकुंज में नोटबंदी के बाद संतों की सेवा के लिए आने वाली सामग्री में 50 प्रतिशत कमी आई है।

[@ मंदिर में आया चोर, कैमरे में कैद हुई करतूत ]

यह भी पढ़े

Web Title-Note ban had an impact on the devotion, Temples set to be cashless
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: note ban, impact, devotion, temple, cashless, jaipur, iskon temples, govind dev mandir, news of jaipur, rajasthan news, rajasthan hindi news, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, breaking news of rajasthan, news of rajasthan, hindi news in rajasthan, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved