• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
2 of 2

निसार अहमद को नहीं डिगा सकी पैसों की कमी, पिता चलाते हैं रिक्शा

निसार ने कहा कि मुझे खेल में अपना करियर बनाने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। मेरे पिता एक मजदूर हैं और मैं जब भी उनसे खेल के लिए जूते, सप्लीमेंट और कपड़ों की मांग करता हूं तो पैसों की कमी के चलते वे मुझसे खेलों को छोड़ देने के लिए कहते हैं। उन्होंने कहा, पर, मैं खेल के सिवाय कुछ नहीं सोचता हूं। साल 2016 में मुझे एनवाईसीएस और गेल इंडिया से स्पॉनसरशिप मिल गई और उनकी मदद से मेरा करियर आगे बढ़ रहा है।

इन लोगों की मदद से मैं देश के लिए पदक जीतने में सफल रहूंगा। यह पूछे जाने पर कि क्या सरकार से उन्हें कोई मदद मिल रही है, उन्होंने कहा, मुझे सरकार से किसी प्रकार की कोई मदद नहीं मिली है। निसार ने कहा कि उनका अगला लक्ष्य विश्व जूनियर चैंपियनशिप और यूथ ओलम्पिक में देश के लिए पदक जीतना है। उन्होंने कहा, अपने इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए मैं कड़ी मेहनत कर रहा हूं।

खेलो इंडिया में अपने प्रदर्शन को लेकर पूछे जाने पर युवा एथलीट ने कहा, खेलो इंडिया में मैंने अपना सर्वश्रेष्ठ समय निकाला और इससे मुझे काफी आत्मविश्वास मिला। मुझे लगता है कि मैं इससे भी अच्छा कर सकता हूं लेकिन इसके लिए मुझे अपना सब कुछ झोंकना होगा। खेलो इंडिया में स्वर्ण के साथ-साथ जो समय मैंने निकाला, वह भी मेरे लिए काफी मायने रखता है और इसे लेकर मैं बहुत ही उत्साहित हूं।

ये भी पढ़ें - ये हैं IPL इतिहास के 10 सबसे महंगे क्रिकेटर, कोई पैसा वसूल तो कोई...

यह भी पढ़े

Web Title-Khelo India gold medalist young athlete Nisar Ahmad shares his life experience
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: khelo india, gold medalist young athlete nisar ahmad, nisar ahmad, usain bolt, gail, usain bolt academy, rajyavardhan singh rathore, sports news in hindi, latest sports news in hindi, sports news
Khaskhabar.com Facebook Page:

खेल

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved