• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

अजमेर जोनल प्लान में भू-उपयोग परिवर्तन में घपला, क्या सरकार की भ्रष्टाचार के खिलाफ यही है जीरो टोलरेंस?

Scam in land use change in Ajmer Zonal Plan, is this the government zero tolerance against corruption? - Ajmer News in Hindi

अजमेर। राज्य सरकार की भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टोलरेंस नीति जारी करने के बावजूद अजमेर जोनल प्लान में भू-उपयोग परिवर्तन में अनियमितताएं सामने आई है।
अजमेर जोनल प्लान में करोड़ों के लेनदेन के जरिये पीआर बेनीवाल द्वारा मास्टर प्लान से छेड़छाड़ करने का मामाल सामने आया है। अजमेर के जन प्रतिनिधी निरन्तर जोनल प्लान में हुए भ्रष्टाचार को लेकर जिला कलेक्टर, नगरीय मंत्री व विधान सभा अध्यक्ष वासुदेव देवनानी को सबूतों के साथ शिकायतें कर चुके हैं। दरअसल मास्टर प्लान जनवरी-2021 में अधिसूचित होने के बाद नियमानुसार उसमें 2 वर्ष अर्थात जनवरी-2023 तक भू उपयोग में किसी प्रकार का परिवर्तन नही किया जा सकता था। इसके बावजूद भू-परिवर्तन कर दिया गया।


शिकायतों में बताया गया है कि पीआर बेनीवाल व संविदा पर रखे अर्बन प्लानर आकाश द्वारा मास्टर प्लान में खुला बाग, पार्क, रिहायशी, भू-उपयोग को अपनी पंसद के व्यक्तियों/कम्पनियों के पक्ष में उसे टाउनशिप, व्यवसायिक में परिवर्तन कर डाला। इसका ज्वलंत उदाहरण थोक मालियान के खसरा नम्बर 9572 व 9579 को....... रियल एस्टेट प्रा0 लि0 भैरूगंज अजमेर के नाम दर्ज है। भूमि मास्टर प्लान में आरक्षित बाग, खुले स्थल, आमोद-प्रमोद, सुविधा क्षेत्र में दर्ज थी, को 8 फरवरी 2022 को आवासीय टाउनशिप में पट्टा जारी कर दिया।

फायसागर रोड स्थित अजमेर बाग में पार्क/खुला क्षेत्र की भूमि को जोनल प्लान में व्यवसायिक बदलाव कर करोड़ों का लाभ पहुंचाया गया।

जेडीए का का भवन नाले में बनवा डालाः-

नदी-नालो तालाब, डूबत क्षेत्र में भवन निर्माण व पट्टे जारी कर पीआर बेनीवाल ने स्वीकार किया कि दिनांक 4 अप्रैल 2024 को हुई प्राधिकरण की 23वीं बैठक में तथ्यों को छिपाते हुए हेराफेरी की गई। अजमेर विकास प्राधिकरण का भवन ही नाले में बनवा डाला, ऐसे निदेशक (आयोजना) की इस भूल की नीयत क्या जनता की गाड़ी कमाई के टेक्स से चुकाई जाएगी। क्योंकि उच्च न्यायालय से इसका टूटना तय है, नाला डायवर्जन करने का कोई प्रावधान है। इसमें अब्दुल रहमान बनाम स्टेट के फैसले का उल्लंघन हुआ है।

बेनिवाल ने माननीय उच्च न्यायालय द्वारा जारी जोनल प्लान के निर्देशों के विपरीत जाकर वर्ष 2017 की सैटेलाईट इमेजरी पर बिना मौका परीक्षण किये जोनल प्लान बनवा डाले। नियमानुसार मास्टर प्लान में दर्शित भू-उपयोग को जोनल प्लान में नहीं बदला जा सकता, परन्तु बेनिवाल ने हजारों एकड़ भूमि के मौके पर उपयोग को रिक्त भूमि दर्शा दिया। मास्टर प्लान में दर्शित रिहायशी भूमि को रिक्त या कृषि भूमि दर्ज किया। ऐसे भू-उपयोग परिवर्तन के कई मामले, जिनमें कानून और नियमों का उल्लंघन किया गया है। सवाल यह है कि अजमेर जोनल प्लान में इस तरह हो रही धांधली का आखिर जिम्मेदार कौन है? और इसका नुकसान आखिर कौन उठाएगा?

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Scam in land use change in Ajmer Zonal Plan, is this the government zero tolerance against corruption?
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: scam in land, ajmer zonal plan, government, zero tolerance, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, ajmer news, ajmer news in hindi, real time ajmer city news, real time news, ajmer news khas khabar, ajmer news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved