• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

आखिर देश में क्यों हो रही है कैश की किल्लत? जानें-ये बड़ी बातें

नई दिल्ली। देश के कई राज्यों में नकदी की कमी और खाली पड़े एटीएम के कारण हाहाकार मचा हुआ है। आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, बिहार, मध्य प्रदेश, गुजरात सहित कई राज्यों में लोगों को कैश की कमी से जूझना पड़ रहा है। हालांकि, केंद्र सरकार और आरबीआई कैश की पर्याप्त उपलब्धता का दावा कर रहे हैं। लोग कैश क्रंच की वजह जानना चाहते हैं और सरकार का कहना है कि नोटों की मांग में अप्रत्याशित वृद्धि से समस्या आई है। हालांकि, अब तक सरकार की तरफ से कोई स्पष्ट कारण नहीं बताया गया है।

नकदी की कमी और खाली एटीएम की खबरों के बीच वित्तमंत्री अरुण जेटली ने लोगों की आशंकाओं को दूर करते हुए कहा, प्रचलन में जरूरत से ज्यादा नोट हैं। इसके साथ ही सरकार ने कुछ क्षेत्रों में नकदी की इस कमी के लिए असामान्य मांग पैदा करने का लोगों पर आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि नकदी की असामान्य मांग को देखते हुए सरकार ने 500 रुपये के नोट की छपाई पांच गुना अधिक करने का फैसला किया है। जेटली ने ट्वीट किया, देश में प्रचलन में जरूरत से ज्यादा नकदी है और बैंकों के पास भी पर्याप्त नकदी है। कुछ क्षेत्र में नकदी की कमी अचानक असामान्य मांग बढऩे से हुई है और स्थिति से निपटा जा रहा है।

इस स्थिति पर भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने कहा है कि आरबीआई के वॉल्ट्स और करेंसी चेस्ट्स में पर्याप्त नकदी हैं और देश के चारों नोट छापने वाले प्रिटिंग प्रेस में छपाई बढ़ा दी गई है। वहीं, जल्दबाजी में बुलाए गए एक संवाददाता सम्मेलन में आर्थिक मामलों के सचिव एस. सी. गर्ग ने कहा, देश में नकदी की कमी नहीं है। अभी 18 लाख करोड़ रुपये की नकदी प्रचलन में है। इतनी ही नकदी नोटबंदी से पहले प्रचलन में थी। हम मांग बढऩे पर आपूर्ति के लिए 2.5-3 लाख करोड़ नकदी अतिरिक्त रखते हैं। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ महीनों से नकदी की मांग अचानक बढ़ी है।

बैंकों में वापस नहीं आ रहे है 2000 के नोट

कई बैंक अधिकारियों का कहना है कि 2000 के नोट बैंकों में वापस नहीं आ रहे हैं। यह भी अफवाह है कि कर्नाटक चुनावों में कैश होर्डिंग से संकट खड़ा हुआ है। इससे इस बात की आशंका को भी बल मिल रहा है कि कहीं ब्लैक मनी की होर्डिंग के लिए तो इसका इस्तेमाल नहीं हो रहा। देश की सबसे बड़ी करंसी होने और आकार छोटे होने की वजह से भी 2000 के नोटों को लेकर ऐसी आशंका खड़ी हो रही है। आर्थिक मामलों के सचिव एससी गर्ग ने भी माना कि 2000 रुपये के नोटों की कमी आई है, लेकिन फिर से काला धन जमा होने की आशंका को सिरे से खारिज कर दिया है।

आखिर क्यों हो रही है कैश की किल्लत



ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Why is the cash crisis in the India? know-these reason
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: cash crisis, note, printing, rbi, currency, finance minister, arun jaitley, कैश की किल्लत, नोटों की कमी, एटीएम खाली, नोटबंदी, नकदी संकट, modi government, subhash garg, empty atm, cash crunch, atm, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, delhi news, delhi news in hindi, real time delhi city news, real time news, delhi news khas khabar, delhi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2020 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved