• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

शांतिकुंज परिवार ने दशहरा को दुर्व्यसनों के नशासुर का अंत हो, के संकल्प के साथ मनाया

Shantikunj family celebrated Dussehra with a resolve to end the evil spirit of addiction - Haridwar News in Hindi

हरिद्वार। गायत्री परिवार प्रमुखद्वय श्रद्धेय डॉ. प्रणव पण्ड्या एवं श्रद्धेया शैलदीदी के निर्देशन में देशभर में फैले प्रज्ञा संस्थानों ने व्यसन मुक्ति रैली निकाली। विजयादशमी पर्व के अवसर पर रावण, कुंभकरण के पुतले जलाने के साथ ही दुर्व्यसनों को जड़ से निकाल फेंकने का आवाहन किया।
शांतिकुंज में सैकड़ों पीतवस्त्रधारी भाई बहनों ने हाथ में व्यसन मुक्ति के विभिन्न नारे की पट्टी के साथ गेट नंबर तीन से व्यसन मुक्ति रैली का शुभारंभ किया। यह रैली निकटवर्ती कई क्षेत्रों के लोगों को जागरूक करते हुए युगऋषिद्वय की पावन समाधि पहुंची।
यहां लोगों को अपने-अपने परिवार संबंधी, दोस्तों सहित परिचितों को दुर्व्यसनों से दूर रहने के लिए संकल्पित कराए गए, वहीं नशा मुक्त भारत बनाने की दिशा में सार्थक पहल करने की शपथ दिलाई गयी। इसके साथ ही देवसंस्कृति विश्वविद्यालय परिवार ने महाकाल मंदिर से व्यसन मुक्ति रैली की शुरुआत की। युवापीढ़ी को दुर्व्यसनों से दूर करने के लिए आवाहन किया गया।
इस अवसर पर नुक्कड़ नाटक के माध्यम से व्यसन से मुक्ति हेतु प्रेरित किया गया। अपने संदेश में युवा आइकॉन व देवसंस्कृति विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या ने कहा कि गौरवशाली युवा नेतृत्व एवं विश्व को आध्यात्मिक प्रकाश देने वाला देश भारत, वर्तमान समय में दुर्व्यसनों की आँधी में जा फँसा है। नशा सामाजिक एवं आध्यात्मिक दोनों ही दृष्टियों से निषिद्ध वस्तुओं में है।
नशा करना एक ऐसी बीमारी है जिसे करता तो एक व्यक्ति है, पर उसकी सजा सारा समाज भुगतता है। नशे का यह घातक दुर्व्यसन एक ऐसी चुनौती के रूप में उभर कर सामने आया है कि यदि समय रहते इस विषमता का, विकृति का निराकरण न किया गया, तो देश का भविष्य एक ऐसे अंधकारमय गर्त में जा कर गिरेगा। जहाँ से उभर पाना संभव न हो सकेगा। गायत्री परिवार दशहरा-दीवाली को दुर्व्यसनों के नशासुर के अंत हो के संकल्प के साथ मनाएगा।
श्याम बिहारी दुबे ने कहा कि नशा मुक्त भारत बनाने के लिए अधिक से अधिक जन आंदोलन चलाने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर सैकड़ों पीतवस्त्रधारी भाई बहन एवं युवा उपस्थित रहे। ज्ञात हो कि दो दिन पूर्व देसंविवि के प्रतिकुलपति डॉ. चिन्मय पण्ड्या जी के नेतृत्व में राष्ट्रीय स्तर पर वर्चुअल मीटिंग हुई। जिसमें देशभर के चयनित कार्यकर्त्ताओं के साथ शांतिकुंज के विषय विशेषज्ञों ने प्रतिभाग किया था और सभी को व्यसनों से मुक्ति हेतु चलाये जाने वाले अभियानों की जानकारी दी गयी थी।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Shantikunj family celebrated Dussehra with a resolve to end the evil spirit of addiction
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: haridwar, gayatri parivar, rev dr pranab pandya, rev shaildidi, de-addiction rally, vijayadashami festival, effigies of ravana and kumbhkaran, uproot vices, news in hindi, latest news in hindi, news, haridwar news, haridwar news in hindi, real time haridwar city news, real time news, haridwar news khas khabar, haridwar news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

गॉसिप्स

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved