• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

कौन बनेगा अब यूपी का नया चीफ सेक्रेटरी, सीएस डीएस मिश्रा हो रहे हैं रिटायर, ये तीन अफसर हैं दावेदार, यहां पढ़ें

Who will become the new Chief Secretary of UP now, CS DS Mishra is retiring, these three officers are contenders - Lucknow News in Hindi

हरीश तिवारी


लखनऊ ।
उत्तर प्रदेश के नए मुख्य सचिव की तलाश शुरू हो गई है और राज्य सरकार और केन्द्र सरकार को 30 जून से पहले नए चीफ सेक्रेटरी को नियुक्त करना है। असल में मौजूदा सीएस दुर्गा शंकर मिश्रा का तीसरा विस्तार 30 जून को समाप्त हो रहा है। वह इससे पहले तीन बार सेवा विस्तार ले चुके हैं। जिसके कारण राज्य में कई अफसरों का सीएस बनने का सपना टूट चुका है। अब नए चीफ सेक्रेटरी की दौड़ में एसपी गोयल, मनोज कुमार सिंह, देवेश चतुर्वेदी का नाम तेजी से चल रहा है। एसपी गोयल और देवेश चतुर्वेदी 1989 बैच के आईएएस हैं जबकि मनोज कुमार सिंह 1988 बैच के हैं। वहीं चर्चा है कि एसपी गोयल चीफ सेक्रेटरी की पोस्ट के लिए फ्रंट रनर हैं। क्योंकि इसके कई समीकरण हैं। खास बात यह है कि सीएस पद के लिए कतार में लगे तीनों आईएएस अफसरकेंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर रह चुके हैं। कहा जा रहा है कि इस बार कोई चौंकाने वाला नाम सामने नहीं आ सकता है। जैसा डीएस मिश्रा के मामले में हुआ था। क्योंकि केन्द्र और राज्य में कई सियासी समीकरण बदल चुके हैं।

एसपी गोयल 1989 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। वह राज्य में बीजेपी की सरकार बनने के बाद से ही मुख्यमंत्री कार्यालय में पहले प्रमुख सचिव और बाद में अतिरिक्त मुख्य सचिव की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। इसके साथ ही उनके पास कई अहम विभाग हैं। उन्हें मुख्यमंत्री आदित्यनाथ के करीबी अफसरों में माना जाता है। उनके केन्द्र सरकार से भी अच्छे संबंध हैं। आमतौर पर शांत रहने वाले गोयल, आउटपुट देने वाले अफसर माने जाते हैं। हालांकि चर्चा ये भी है कि उन्हें केंद्र सरकार के किसी महत्वपूर्ण मंत्रालय में सचिव के पद पर तैनात किया जा सकता है। लेकिन राज्य के चीफ सेक्रेटरी का पद केन्द्र के सचिव के पद से ज्यादा अहम होता है और ब्यूरोक्रेसी में या तो चीफ सेक्रेटरी या फिर कैबिनेट सेक्रेटरी आईएएस अफसर बनना चाहता है। गोयल केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति में भी रह चुके हैं। अगर 1989 बैच की बात करें तो इसमें सबसे आगे एसपी गोयल का नाम आती है। वह अपने बैच में टॉप में हैं।

अब चीफ सेक्रेटरी के रेस में दूसरा नाम मनोज कुमार सिंह का चल रहा है और वह 1988 बैच के आईएएस अफसर हैं। वह भी सीएम योगी के करीबी माने जाते हैं और ब्यूरोक्रेसी में नंबर का पद माने जाने वाले कृषि उत्पादन आयुक्त के रूप में तैनात हैं। वहीं अगर राज्य सरकार केन्द्र की सहमति से 1989 बैच के गोयल या चतुर्वेदी को चीफ सेक्रेटरी नियुक्त करती है तो मनोज कुमार सिंह को सचिवालय से बाहर जाना होगा। मनोज सिंह के पास औद्योगिक विकास आयुक्त के साथ कई महत्वपूर्ण विभागों की जिम्मेदारी भी है। मनोज कुमार सिंह जुलाई 2025 में सेवानिवृत्त होंगे।

देवेश चतुर्वेदी 1989 बैच के आईएएस अधिकारी हैं और वह भी राज्य में चीफ सेक्रेटरी के पद के लिए रेस में बताए जाते हैं। वह अपर मुख्य सचिव नियुक्ति के साथ ही उनके पास कृषि विभाग के अपर मुख्य सचिव पद भी संभाल रहे हैं। देवेश चतुर्वेदी की छवि साफ-सुथरी है और राज्य में काबिल अफसर माने जाते हैं। गोयल जनवरी 2027 में और चतुर्वेदी 2026 में सेवानिवृत्त होंगे।

1988 बैच के ये अफसर हैं केन्द्र में नियुक्त
अरूण सिंघल, लीना नंदन अभी केन्द्र में तैनात है। सिंघल अगले साल रिटायर होंगे। जबकि लीना नंदन इसी साल रिटायर हो जाएंगी। राधा एस चौहान भी इसी महीने रिटायर हो रही हैं। वह भी 1988 बैच की अफसर हैं। जबकि राज्य में राजस्व परिषद के अध्यक्ष रजनीश दूबे अगस्त में रिटायर होंगे।




ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Who will become the new Chief Secretary of UP now, CS DS Mishra is retiring, these three officers are contenders
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: chief secretary of up, cs ds mishra, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, lucknow news, lucknow news in hindi, real time lucknow city news, real time news, lucknow news khas khabar, lucknow news in hindi
Khaskhabar UP Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved