• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

केवल कानून से बाल विवाह रोकना संभव नहीं : भदेल

It is not possible to stop child marriage only by law: bhadel - Sri Ganganagar News in Hindi

जयपुर/श्रीगंगानगर। अक्षय तृतीया और पीपल पूर्णिमा के अबूझ सावों पर बाल विवाह रोकने के लिए महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री अनीता भदेल ने श्रीगंगानगर जिले के सभी सरपंचों को पत्र लिखा है। पत्र में सभी सरपंचों से बाल विवाह रोकने की अपील करते हुए मंत्री ने लिखा है कि बाल विवाह सभ्य समाज के लिए कलंक है। इसे केवल कानून के माध्यम से रोक पाना संभव नहीं है। इसके लिए लोगों में जागरूकता लाना जरूरी है। यह सामाजिक कुरीति ही नहीं, बल्कि इससे कम उम्र के विवाह के बंधन में बंधे बालक-बालिकाओं का सर्वांगीण विकास भी अवरुद्ध होता है। बाल विवाह लड़कियों के लिए विशेष रूप से क्रूर है, जो उनकी शिक्षा, समुचित पोषण, कौशल विकास, रोजगार एवं उत्साहपूर्ण जीवन में स्थायी बाधा उत्पन्न करता है।

महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री ने पत्र में लिखा है कि 28 अप्रैल को अक्षय तृतीया और 10 मई को पीपल पूर्णिमा है। इन पुनीत अवसरों पर मुहूर्त निकाले बिना शुभ कार्य करने की हमारे यहां परंपरा रही है। आपकी ग्राम पंचायत में भी इन मौकों पर अनेक विवाह होंगे। इस अवसर पर पुरातनवादी सोच, सामाजिक दबाव, दहेज प्रथा, आटा-साटा प्रथा, एवं गरीबी के कारण अनेक माता-पिता अपने नन्हे बच्चों का विवाह कर देते हैं, जिसे हर हाल में रोकना है।

मंत्री ने सरपंचों को लिखा है कि राज्य में बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2007 लागू है। इस कानून के तहत बाल विवाह करने वाले माता-पिता के साथ-साथ बाल विवाह आयोजन में भागीदार बनने वाले व्यक्ति जैसे बाराती, पुजारी, रिश्तेदार, बैंडबाजा वाले, हलवाई, फोटोग्राफर, बारात ले जाने वाले वाहन के मालिक, टैंट हाउस लगाने वाले इत्यादि भी समान रूप से दोषी माने जाएंगे। कानून में इन सभी के लिए 2 वर्ष तक का कठोर कारावास या एक लाख रुपए तक जुर्माना या दोनों ही सजा का प्रावधान है, लेकिन साथ ही मंत्री ने लिखा है कि बाल विवाह जैसी सामाजिक बुराई का उन्मूलन केवल कानून से ही संभव नहीं है। इसको लेकर सामाजिक जागरूकता एवं जनभागीदारी बहुत जरूरी है।

अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-It is not possible to stop child marriage only by law: bhadel
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: anita bhadel, minister of state for women and child development, not, possible, stop, child marriage, law, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, sri ganganagar news, sri ganganagar news in hindi, real time sri ganganagar city news, real time news, sri ganganagar news khas khabar, sri ganganagar news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved