• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में क्या रहेगा खास, यहां पढ़ें और सुनें

What will be the specialty of Jaipur Literature Festival - Jaipur News in Hindi

जयपुर । जब कड़कड़ाती ठंड हमारे दरवाजे पर दस्तक दे ही चुकी है तो दोस्तों अपने दस्ताने और मफलर निकालकर गुलाबी नगरी में शुरू होने वाले, जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के लिए तैयार हो ही जाइये। साल 2019, जनवरी में जयपुर और वहां का आलिशान डिग्गी पैलेस फिर से एक बार देश और दुनिया भर आये दीवानों की मेजबानी के लिए तैयार है। इन दीवानों पर जहाँ किताबों की धुन सवार है, तो वहीं इनके मनों में कुलबुला रहे हैं कुछ सवाल, कुछ विचार और इनका भी है अपना एक नजरिया। तो जी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के मंच पर जहां ये आपसे अपना हाल-ए-दिल साझा करते हैं, तो वहीं आपकी बात भी पूरे जोश से सुनते हैं। लेकिन-लेकिन इससे पहले कि आप 300 वक्ताओं की भारी लिस्ट तले दब जाए, याद रखियेगा कुछ और भी जरूरी चीजें हैं, जिनका अगर लुत्फ आपने जी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में नहीं लिया, तो भई मान लीजिये कि फेस्टिवल को पूरी तरह जिया ही नहीं।

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में मुख्य वेन्यु पर चल रहे सत्रों के साथ ही कुछ प्रोग्राम जयपुर की सांस्कृतिक धरोहरों पर भी आयोजित किये जाते हैं। जिनमें हवा महल और आमेर फोर्ट प्रमुख रहते हैं। इन ऐतिहासिक स्थलों पर होने वाले ये शानदार कार्यक्रम आपके जीवन की कुछ खुशनुमा शामों में शामिल हो सकते हैं। राजस्थान पर्यटन के साथ मिलकर आयोजित होने वाली इन सांस्कृतिक शामों में कई प्रमुख कलाकार समा बांध चुके हैं, जिनमें नसीरुद्दीन शाह, शबाना आजमी, सोनम कालरा शामिल हैं। इस साल भी कुछ खास मेहमान आपकी शाम को गुलजार करने के लिए उपस्थित रहेंगे, और जवाहर कला केंद्र और आमेर फोर्ट में ये सांस्कृतिक शामें सजेंगी। 25 जनवरी को जवाहर कला केंद्र में ‘क्लोथिंग एज आइडेंटिटी’ नाम से एक फैशन शो आयोजित किया गया है, जहाँ कुछ पारम्परिक डिजाइनर, दिल को छू लेने वाले लोकगीत की पृष्ठभूमि में, कच्छ की सांस्कृतिक परम्परा को परिधानों के माध्यम से प्रस्तुत करेंगे। 26 जनवरी को आमेर फोर्ट में केरल का शास्त्रीय संगीत और, शाकिर खान और अजीम अल्वी के साथ उस्ताद खान और हाफीज अहमद अल्वी का सितार वादन होगा।-
फेस्टिवल बाजार

डिग्गी पैलेस में चल रहे अनेकों सत्रों के बीच श्रोताओं/दर्शकों का ध्यान अक्सर वहां सजी छोटी-छोटी दुकानों पर जाता ही जाता है। फेस्टिवल बाजार में आमंत्रित ये विक्रेता जहां कुछ चुनिंदा साजो-सामान के साथ अपने उपभोक्ताओं के सामने हाजिर होते हैं, वहीँ ज्यादातर दुकानें चैरिटी के मकसद से भी संचालित हैं। इन दुकानों में बिकने के लिए आया सामान अधिकतर स्कूली बच्चों या कुछ एनजीओ की मदद से जरूरतमंद कारीगरों द्वारा तैयार किया गया होता है। जिनकी बिक्री का एक निश्चित अनुपात उन तक पहुँचता है। तो एक अच्छे मकसद के साथ, हाथ से बनी हुई इस उम्दा कारीगरी को देखिये और इनका हौंसला बढ़ाइए। यहाँ स्टेशनरी के सामान से लेकर, खूबसूरत झोले, कढ़े हुए शाल, मीनाकरी की हुई ज्वेलरी, टोपियां, जैकेट तक सब उपलब्ध है। और इनके खूबसूरत रंग वाकई मुड़-मुड़कर देखे जाने लायक हैं।
सुबह और शाम का म्यूजिक

बातें हो साहित्य की और संगीत न हो... ऐसा कैसे हो सकता है भला। तो जी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल अपनी लिस्ट में संगीत को प्राथमिकता देते हुए सुबह और शाम, दोनों ही समय बिलकुल अलग अंदाज में दुनिया के बेस्ट से बेस्ट कलाकारों को मंच पर ला श्रोताओं को सम्मोहित कर देता है। सुबह साढ़े नौ बजे, डिग्गी पैलेस में ही इतनी सुरीली और ओजस्वी प्रस्तुति दी जाती है कि न चाहते हुए भी आपका सिर उन धुनों पर झूमने लगता है। माना सर्दी की सुबह में साढ़े नौ बजे कहीं पहुंचना इतना आसान नहीं होता, लेकिन गर आप पहुँच गए तो ऊर्जा और आनन्द की ऐसी अनुभूति होती है कि आप खुद में अगले कई दिन काम कर पाने की स्फूर्ति महसूस करते हैं। ये संगीत के माध्यम से एक ध्यानावस्था होती है।
वही शाम का जबरदस्त म्यूजिक आपके पैरों को थिरकने के लिए मजबूर कर देता है। एक जबरदस्त बीते दिन की एक शानदार विदाई जयपुर म्यूजिक स्टेज पर ही दी जाती है। तो कहा जा सकता है कि जी जेएलएफ में अगर म्यूजिक नहीं सुना तो क्या किया... और इस बार के कलाकारों में बर्नाली चट्टोपाध्याय, दीपा रसिया, श्रुति विश्वनाथ, उषा उत्थुप और विद्या शाह शामिल हैं।

फेवरेट लेखक से साइन की हुई कॉपी
हम सबके अपने कुछ रोल मॉडल और फेवरेट सेलिब्रिटी और लेखक होते हैं। तो जी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में न सिर्फ आप उन्हें देख/सुन सकते हैं, बल्कि उनकी किताब खरीदकर, उस पर उनके ऑटोग्राफ भी ले सकते हैं। और क्या पता आपको लगे हाथों उनसे अपने दिल का कोई सवाल पूछने का मौका भी मिल जाए। तो दोस्तों अपने फैन गर्ल/बॉय मूमेंट को जीते हुए इसे भी आजमा लिया जाये।
सेलिब्रिटी के साथ दिलचस्प बातचीत का मौका

जैसा की हमने आपको बताया कि आप लेखक की साइन की हुई किताब खरीद सकते हैं, लेकिन यहाँ ऐसे और भी बहुत से सेलिब्रिटी आते हैं, जो यूं ही आपको इधर-उधर कोई सत्र सुनते हुए या एक वेन्यु से दूसरे के बीच जाते हुए टकरा जाते हैं। और अगर बाय चांस आपने डेलिगेट पास खरीदा हुआ है, तो लंच एरिया या फिर फिर डेलिगेट लाउन्ज में, कौन जाने आपका जैक पॉट लग जाए और आपको कुछ पल की गुफ्तगू मिल जाए... लेकिन ऐसे मामलों में हमें पूरी तरह से दूसरे की प्राइवेसी का ध्यान रखते हुए, सभ्य तरीके से पेश आना चाहिए।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-What will be the specialty of Jaipur Literature Festival
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: jaipur literature festival, jaipur literature festival2019, jlf2019, jlf-2019, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved