• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

मेरे देश को समझने के लिए अफगान साहित्य पढ़ें : करजई

JLF 2018: Former Afghan President Hamid Karzai says Read Afghan literature to understand my country - Jaipur News in Hindi

जयपुर। अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई का कहना है कि अफगानिस्तान के बारे में पश्चिमी देशों का नजरिया पूर्वाग्रह से प्रेरित हो सकता है अथवा उसमें प्रासंगिक समझ का अभाव हो सकता है। इसलिए अफगानिस्तान को समझने के लिए अफगान साहित्य को पढ़ना जरूरी है।

जयपुर में आयोजित जयपुर साहित्य सम्मेलन में शिरकत करने यहां पहुंचे करजई ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, "अफगान साहित्य काफी समृद्ध है और इसमें बहुत कुछ पढ़ने व समझने को है।"

उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान के बारे में पश्चिमी देशों का नजरिया ज्यादातर नकारात्मक हो सकता है और उसमें सकारात्मक पहलुओं की उपेक्षा हो सकती है। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान के लोगों की जीवन पद्धति और विलक्षण संस्कृति की झलक अफगानी साहित्य में ही मिल सकती है।

करजई ने 17वीं सदी के सूफी कवि अब्दुर रहमान मोहम्मद 'रहमान बाबा' और उनके समकालीन खुशाल खाल खाटक के नामों का उल्लेख किया। मशहूर राष्ट्रीय कवि खाटक को मुगलों के अत्याचार के विरोध के लिए जाना जाता है।

करजई ने कहा कि खलीलुल्लाह असि को 20वीं सदी का सबसे मशहूर अफगान कवि माना जाता है, जो प्राचीन फारसी के अंतिम और आधुनिक फारसी के प्रथम कवि भी कहलाते हैं। काहर असि भी प्राचीन और नई दोनों विधाओं में मशहूर हुए लेकिन बदकिस्मती से 1990 में अफगान युद्ध के दौरान हुई गोलाबारी में वह मारे गए।

उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में संघर्ष का लंबा दौर रहा है और उसका प्रभाव कई दशकों से देखा जा रहा है लेकिन देश में साहित्य लगातार समृद्ध होता रहा है।

करजई ने कहा, "जब कोई किताब अफगानिस्तान पर प्रकाशित होती है तो उसे पश्तो भाषा में अनूदित कर एक सप्ताह के भीतर लोगों को उपलब्ध करा दिया जाता है।"

करजई ने कहा कि उन्होंने रवींद्रनाथ टैगोर और कालिदास की कृतियां पढ़ी हैं और भारतीय गायक मन्ना डे के गीत सुनते रहे हैं।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-JLF 2018: Former Afghan President Hamid Karzai says Read Afghan literature to understand my country
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: jlf 2018, former afghan president, hamid karzai, read afghan literature, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved