• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

अगले सीजन में 80 मीटर भाला फेंकने का लक्ष्य : सुमित अंतिल

Want to cross 85m mark, says Paralympic javelin throw champion Sumit Antil - Sports News in Hindi

मुंबई। भारतीय पैरा एथलीट सुमित अंतिल ने इस साल की शुरुआत में टोक्यो पैरालंपिक खेलों में भाला फेंकने में कई रिकॉर्ड अपने नाम करने के साथ स्वर्ण पदक भी जीता। उन्होंने अगले सीजन में 80 मीटर तक भाला फेंकने का लक्ष्य रखा है। अगस्त में टोक्यो पैरालिंपिक में पुरुषों की भाला फेंक एफ64 में स्वर्ण पदक जीतने वाले अंतिल ने फाइनल में अपने ही विश्व रिकॉर्ड (62.88 मीटर) को तोड़ते हुए अपने पहले प्रयास में 68.55 मीटर भाला फेंक स्वर्ण पदक जीता था। अब उनका कहना है कि वह 80 मीटर के निशान तक भाला फेंक सकते हैं।

अंतिल ने अंतर्राष्ट्रीय पैरालंपिक समिति के पुरस्कार विजेता आधिकारिक पॉडकास्ट 'ए विनिंग माइंडसेट सीजन टू' से कहा, "मुझे लगता है कि मैं 80 मीटर के निशान को आसानी से छू सकता हूं। मुझे नहीं पता क्यों, लेकिन मैं यह कर सकता हूं।"

अंतिल ने कहा, "मैं बस इस रिकॉर्ड (68.55 मीटर) को जितनी जल्दी हो, तोड़ना चाहता हूं। मैं शायद 80 से 85 मीटर के निशान तक भाला फेंक सकता। मैं निश्चित रूप से 85 मीटर के निशान को छूऊंगा। मैं अपनी तकनीक पर अभी काम कर रहा हूं।"

फ्री-व्हीलिंग टॉक में अंतिल ने सफलता के बाद अपने जीवन के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने कहा, "मेरा जीवन पूरी तरह से बदल गया है और लोग अब जानते हैं कि सुमित अंतिल कौन है। जब मैं टोक्यो से भारत पहुंचा, तो मेरे होम टाउन में मेरा भव्य स्वागत किया गया।"

उन्होंने कहा कि मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार प्राप्त करना देश में एक खिलाड़ी के लिए सबसे बड़ा सम्मान है। (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Want to cross 85m mark, says Paralympic javelin throw champion Sumit Antil
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: paralympic javelin throw champion sumit antil, sumit antil, sports news in hindi, latest sports news in hindi, sports news
Khaskhabar.com Facebook Page:

खेल

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved