• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

दीपा कर्माकर ने कहा, वे ऐसा कर सकती हैं तो मैं क्यों नहीं?

नई दिल्ली। एक एथलीट होने के नाते चोट लगना निराशानजनक हैं, लेकिन मैं इसे बाधा नहीं, बल्कि चुनौती मानती हूं। यह कहना है 52 साल बाद ओलंपिक खेलों में पहली भारतीय जिम्नास्ट बनकर इतिहास कायम करने वालीं दीपा कर्माकर का। दीपा फिलहाल घुटने की चोट के कारण रिहेबिलिटेशन से गुजर रही हैं। दीपा अपने कोच बिश्वेश्वर नंदी के साथ इंधिरा गांधी स्टेडियम में जारी राष्ट्रीय शिविर में अपनी फिटनेस पर काम कर रही हैं।

उन्हें इस साल अप्रैल में प्रशिक्षण सत्र के दौरान चोट लगी थी। दीपा ने हालांकि फिर से चलना-फिरना शुरू कर दिया है, लेकिन छह माह के रिहेबिलिटेशन को पूरा किए बगैर वह प्रशिक्षण शुरू नहीं कर सकतीं। दीपा पिछले साल रियो ओलम्पिक में प्रतिस्पर्धा के बाद से खेल जगत से बाहर हैं और वह इस साल की शुरुआत में एशियाई चैम्पियनशिप में भी हिस्सा नहीं ले पाई थीं।

घुटने की चोट के कारण वह विश्व चैम्पियनशिप से भी बाहर रहेंगी, जिसका आयोजन अक्टूबर में कनाडा में होगा। दीपा ने गुरुवार को संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि चोट के मामले में आप कुछ नहीं कर सकते। एक एथलीट होने के नाते यह बात निराशाजनक है, लेकिन मैं इसे बाधा करार नहीं दूंगी। हां, यह एक चुनौती है।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Dipa Karmakar follows gymnastic star Oksana Chusovitina
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: dipa karmakar, gymnastic star, oksana chusovitina, uzbekistan, bishweshwar nandi, canada, rio olympic, sports news in hindi, latest sports news in hindi, sports news
Khaskhabar.com Facebook Page:

खेल

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved