• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

सुपर कप में भाग न लेने के फैसले को क्लबों ने उचित ठहराया

नई दिल्ली। पिछले महीने हुए सुपर कप में भाग न लेने के कारण भारी जुर्माना और प्रतिबंध झेल रहे आई-लीग क्लबों ने रविवार को यहां हुई अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) की अनुशासनात्मक समिति की बैठक में अपने फैसले को उचित ठहराया। एआईएफएफ में मौजूद सूत्रों के अनुसार, टूर्नामेंट में हिस्सा न लेने के लिए सात क्लबों पर 15 से 20 लाख तक का जुर्माना लग सकता है, जबकि क्लबों ने अनुशासनात्मक समिति से सुनवाई के दौरान कहा कि उन्होंने नियमों के अंतर्गत की कार्य किया है।

मोहन बागान ने कहा कि किसी भी समझौते या विनियमन का उल्लंघन करने का कोई सवाल ही नहीं था, क्योंकि उन्होंने सुपर कप के लिए खिलाडिय़ों को पंजीकृत ही नहीं किया था और तदनुसार एआईएफएफ को सूचित किया था जबकि गोकुलम एफसी, मिनर्वा पंजाब एफसी, ईस्ट बंगाल, चर्चिल ब्रदर्स और आइजोल एफसी ने कहा कि उन्होंने समय रहते टूर्नामेंट से अपना नाम वापस ले लिया। नेरोका एफसी सुनवाई के लिए पेश नहीं हुआ।

एक क्लब ने लिखित जवाब में तर्क दिया, 5 फरवरी 2019 को एआईएफएफ ने इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) और आई-लीग क्लबों को एक पत्र लिखा और उसमें प्रतियोगिता (सुपर कप) के कार्यक्रम के बारे में भी बताया। यह नोट करना उचित है कि एआईएफएफ ने पत्र की विषय पंक्ति में ही कहा था कि सुपर कप 15 मार्च से शुरू होगा। 12 मार्च 2019 को क्लबों ने एआईएफएफ को एक पत्र लिखकर बताया कि वे इन कारणों के चलते टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लेंगे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-I League football clubs justify skipping Super Cup
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: i league, football clubs, super cup, aiff, all indian football federation, east bengal, indian super league, sports news in hindi, latest sports news in hindi, sports news

Khaskhabar.com Facebook Page:

खेल

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2021 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved