• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

आई-लीग क्लबों ने प्रधानमंत्री से भारतीय फुटबाल को बचाने की लगाई गुहार

I-League clubs urge PM to form panel to probe AIFFs functioning - Football News in Hindi

नई दिल्ली। आई-लीग में खेलने वाले छह क्लबों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखकर भारतीय फुटबाल को बचाने का आग्रह किया है। मोहन बागान, क्वेस ईस्ट बंगाल, चर्चिल ब्रदर्स एफसी, गोकुलम केरला एफसी, मिनर्वा पंजाब एफसी और आइजोल एफसी ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में भारतीय फुटबाल को अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) के विनाशकारी षडय़ंत्र से निकालने का आग्रह किया है।

प्रधानमंत्री को लिखे पत्र पर मोहन बागान के प्रबंध निदेशक स्वपन साधन बोस ने हस्ताक्षर किए हैं। इस पत्र में प्रधानमंत्री से अनुरोध किया गया है कि जिस तरह से एआईएफएफ काम कर रहा है, वह उसकी जांच कराएं।

पत्र में लिखा है, ‘‘हमारे पास आपके दरवाजे पर आने के अलावा कोई और रास्ता नहीं बचा। हम चाहते हैं कि आप इस मामले में दखल दें और एक जांच आयोग का गठन करें जो एआईएफएफ की कार्यशैली की जांच करे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमें उम्मीद है कि आप इस मसले में दखल देंगे और भारतीय फुटबाल के पारंपरिक फुटबाल क्लबों तथा सभी आई-क्लबों को बचाए रखेंगे जिन्होंने एक माहौल बनाया है भारतीय फुटबाल के लिए भविष्य के लिए सितारे तैयार करने का। आपकी जरूरत के हिसाब से हम सभी संबंधित और जरूरी कागजात मुहैया कराएंगे।’’

क्लबों का यह पत्र एआईएफएफ के उस कदम के बाद आया है जिसमें उसने एशियाई फुटबाल परिसंघ (एएफसी) से आग्रह करते हुए अगले तीन साल तक आई-लीग और इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) को भारत में समांतर रूप से चालू रखने को कहा था।

पटेल ने आई-लीग क्लबों के प्रतिनिधियों से बात की थी और उनके साथ भारतीय फुटबाल के रोडमैप पर बात की थी। पटेल की यह मुलाकात भी उन खबरों के बाद आई थी जिनमें कहा जा रहा था कि एआईएफएफ ने आईएसएल के साथ हाथ मिला लिया है।

पटेल ने कहा कि यह तीन साल एआईएफएफ को पर्याप्त समय देंगे जिससे वो रोडमैप तैयार कर सके क्योंकि देश में दो लीग एक साथ नहीं चल सकतीं।

छह क्लबों ने इस बात को तो मान लिया है कि वह अगले दो-तीन साल तक एआईएफएफ आई-लीग और आईएसएल को एक साथ जारी रखे लेकिन वो इस बात पर राजी नहीं हुए थे कि आईएसएल विजेता को एएफसी चैम्पियंस लीग में खेलने का अधिकार दिया जाए।

मिनर्वा पंजाब, मोहन बागान, ईस्ट बंगाल, आइजोल एफसी, चर्चिल ब्रदर्स और गोकुलाम केरल ने एक संयुक्त बयान में कहा है कि वह आई-लीग के आगामी सीजन के लिए ब्रॉडकास्ट और कार्यक्रम के बारे में बात करने को तैयार हैं।

बयान के मुताबिक, ‘‘समझौते को देखते हुए, आई-क्लब लीग के ब्रॉडकास्ट प्लान तथा कार्यक्रम को लेकर मान गए हैं, वो भी तब जब यह सही नहीं है। आई-लीग क्लब दो लीग सिस्टम पर अगले तीन साल के लिए राजी हैं वो भी तब जब एक ही लीग की मांग जोरों पर है।’’

क्लबों के बयान के मुताबिक, ‘‘क्लब हालांकि एएफसी चैम्पियंस लीग की जगह आईएसएल क्लब को देने को तैयार नहीं हैं और सभी आई-लीग क्लब अनुरोध करते हैं कि एएफसी चैम्पियंस लीग का स्थान हमारे पास ही रहना चाहिए क्योंकि इतने वर्षों से यह आई-लीग क्लब ही हैं जो एएफसी में जा रहे हैं। एआईएफएफ ने पहले ही एएफसी कप में आईएसएल को जगह दे दी है और मौजूदा स्थिति तब तक बनी रहनी चाहिए जब तक एक लीग न बन जाए।’’

(आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-I-League clubs urge PM to form panel to probe AIFFs functioning
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: i-league clubs, pm modi, aiffs functioning, aiff, sports news in hindi, latest sports news in hindi, sports news
Khaskhabar.com Facebook Page:

खेल

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved