• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

श्रीसंत को राहत, कोर्ट ने आजीवन प्रतिबंध हटाया, अब ये है लक्ष्य

कोच्चि। केरल उच्च न्यायालय ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा भारतीय गेंदबाज एस. श्रीसंत पर लगाए गए आजीवन प्रतिबंध को हटा दिया है। केरल अदालत के इस फैसले से श्रीसंत को काफी राहत मिली है। उन्होंने पिछले साल इस प्रतिबंध के खिलाफ याचिका दायर की थी। उल्लेखनीय है कि 2013 में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के दौरान स्पॉट फिक्सिंग मामले में दोषी पाए जाने के बाद श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया था।

इस मामले में उन्हें मई, 2013 में दिल्ली की तिहाड़ जेल में भी रखा गया था। दिल्ली पुलिस ने फिक्सिंग के आरोप में 17 मई को मुंबई श्रीसंत और उनके साथी खिलाडिय़ों अजीत चंदिला और अंकित चव्हाण के साथ गिरफ्तार किया था। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में बीसीसीआई की अनुशासन समिति ने श्रीसंत पर 13 सितम्बर, 2013 को स्पॉट फिक्सिंग मामले में दोषी पाए जाने के बाद आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था।

आज उच्च न्यायालय ने जब प्रतिबंध हटाने का फैसला दिया, तो उस वक्त श्रीसंत अदालत में मौजूद थे। उन्होंने कहा कि वह अब निश्चित तौर पर अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत कर सकते हैं। श्रीसंत ने कहा, मैं उन सभी लोगों का शुक्रगुजार हूं, जो मुसीबत के समय मेरे साथ खड़े रहे। मैं अब अपनी मैच फिटनेस प्रदर्शित कर सकता हूं। मेरे पास आगे काफी क्लब टूर्नामेंट हैं।

मैं उन मैचों को अपनी फिटनेस सुधारने के लिए इस्तेमाल करूंगा। अपनी फिटनेस साबित करने के बाद मेरा लक्ष्य केरल टीम में स्वयं को शामिल करने का होगा। उन्होंने कहा, अभी मैं भारतीय टीम में शामिल होने के बारे में नहीं सोच रहा हूं, क्योंकि मुझे अपनी फिटनेस वापस हासिल करनी है।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Kerala High Court lifts life ban on indian fast bowler S Sreesanth
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: kerala high court, life ban, indian fast bowler, s sreesanth, ipl, spot fixing, bcci, rajasthan royals, indian premier league, sports news in hindi, latest sports news in hindi, sports news
Khaskhabar.com Facebook Page:

खेल

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved