मानव संसाधन में बड़ी शक्ति के रूप में उभर रहा भारत

www.khaskhabar.com | Published : शनिवार, 10 सितम्बर 2016, 7:16 PM (IST)

कानपुर। जीएचएसआईएमआर परिसर में आयोजित कार्यक्रम का आयेाजन हुआ। जिसका विषय निरंतर एवं सहायोग युक्त प्रज्ञता दोनों ही मानव संसाधन के स्तम्भ है जो इस बदलते हुए परिवेश में संस्था को स्थिरता प्रदान करते हुए सफलता की कुंजी बनते है। कार्यक्रम का आरम्भ दीप प्रज्वलन के साथ हुआ तथा डा0 राकेश प्रेमी ने कहा कि भारत मानव संसाधन में एक बड़ी शक्ति के रूप में उभर रहा है।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बमल रॉय ने कहा कि प्राता के चार सी होते है क्रिएशनए कंटेंटएकनेक्ट एंड कम्युनिटी। रचनात्मकता पाठन समग्री को बढ़ावा देती है। जिससे लोग आपस में जुडते है और नए समुदाय बनाते है और यही कंटीन्यूअस एंड कोलैबोरेटिव लर्निंग का मूल सार है। पूर्ण अधिवेशन.1 की शुरूबात सुनील कुमार एवीपी.एचआरए आरएसपीएल के वक्तत्वय कर्मचारियों की प्रतिधारणता एवं वचनबद्धता के साथ हुई। पहले सत्र में इंजीनियर एमएम सचान की अध्यक्षता मेंमाधवी धोलाशए अनुराग सक्सेनाए सुमित झिंगनए प्रमोद चतुर्वेदीए सुप्रीया दुबेए ने कंटीन्यूअस एवं कोलैबोरेटिव लर्निंग विषय पर वार्ता की।

मध्यांतर के बाद रिसर्च पेपर का प्रस्तुतीकरण हुआ। छात्रों द्वारा लघुनाटिका प्रस्तुत की गयी। कार्यक्रम का समान डाक्टर मोनिका श्रीवास्तव के समापन भाषण से हुआ। उन्होंने कानपुर एवं कानपुर से बाहर के संस्थानों से आए हुए छात्रों एवं प्रतिभागियों को विशेष धन्यवाद दिया।