इस तरह का प्लाट खरीदने से होती है हानि

www.khaskhabar.com | Published : रविवार, 14 अगस्त 2022, 1:29 PM (IST)

इंसान की सबसे बड़ी जरूरत रोटी, कपड़ा और मकान है। रोटी और कपड़े की कमी से तो इंसान किसी तरह पार पा लेता है लेकिन यदि उसके पास खुद का मकान नहीं होता है तो वह परेशान रहता है। हरसंभव कोशिश करके इंसान अपने लिए मकान बनाता है, लेकिन कई बार यह मकान लोगों को शुभ नहीं लगता है। इसका कारण जमीन होता है। मकान बनाने के लिए जमीन खरीदी जाती है। जमीन को खरीदते समय ही यह ध्यान रखना है कि उस भूखंड की आकृति वास्तु के हिसाब से ठीक है या नहीं। भूखंड का आकार प्रकार ही यह तय करता है कि इस पर किस तरह का मकान बनेगा और उसमें रहने वाले लोगों का उस पर क्या प्रभाव पड़ेगा। इसके लिए किसी वास्तु विशेषज्ञ से सलाह लेना अत्यंत आवश्यक है।

गोलाकार प्लाट
गोलाकार प्लाट घर बनवाने के लिए उचित नहीं होता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार इस भूखंड पर मकान बनवाने से लोगों का स्वास्थ ठीक नहीं रहता है, क्योंकि इसकी ऊर्जा केंद्रीकृत रहती है। ऐसे स्थान पर घर बनाना घर में रहने वाले लोगों के लिए अशुभ होता है। गोलाकार प्लाट का उपयोग व्यावसायिक रूप से किया जा सकता है। उसमें भी भवन का निर्माण गोलाकार ही होगा। रहने के लिए ऐसे प्लाट पर बना घर लोगों के सामाजिक और आर्थिक स्तर के लिए अच्छा नहीं होता है।

त्रिभुजाकार प्लाट
वास्तु के अनुसार त्रिभुजाकार प्लाट पर मकान बनवाने से उसमें रहने वाले लोगों को तमाम तरीके की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे प्लाट में मकान बनवाने से लोगों को मानसिक तनाव हो जाता है। घर में रहने वाले लोगों को स्वास्थ्य संबंधी समस्या से जूझना पड़ता है। इस घर में कभी भी आर्थिक उन्नति नहीं होती है। घर में सदा कंगाली छाई रहती है। त्रिभुजाकार प्लाट में मकान बनाने से सामाजिक प्रतिष्ठा में कमी आ जाती है। इसलिए इन तमाम तरह की परेशानियों से बचने के लिए त्रिभुजाकार प्लाट नहीं लिया जाता है।

आलेख में दी गई जानकारियों को लेकर हम यह दावा नहीं करते कि यह पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे