अगले वर्ष से साल में केवल एक बार होंगी 10वीं 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं

www.khaskhabar.com | Published : शुक्रवार, 22 अप्रैल 2022, 11:39 AM (IST)

नई दिल्ली । सीबीएसई की 10वीं और 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा अगले वर्ष से पहले की तरह साल में केवल एक बार आयोजित की जाएगी। इस निर्णय के बाद बोर्ड परीक्षाएं दो अलग-अलग सत्रों में आयोजित नहीं होंगी। हालांकि यह व्यवस्था शैक्षणिक वर्ष 2022-23 से शुरू की जाएगी। इसके साथ ही सीबीएसई ने कक्षा 9 से 12 तक के लिए नया सिलेबस भी घोषित कर दिया है। इससे पहले कोरोना के मद्देनजर सीबीएसई ने बोर्ड परीक्षाएं दो सत्रों में आयोजित करने का निर्णय लिया था। बोर्ड परीक्षा का पहला सत्र वर्ष 2021 के नवंबर एवं दिसंबर माह में पूरा किया जा चुका है। बोर्ड परीक्षाओं का दूसरा सत्र 26 अप्रैल से शुरू हो रहा है। इन परीक्षाओं के उपरांत बोर्ड परीक्षाओं को दो अलग-अलग सत्रों में लेने की व्यवस्था समाप्त कर दी जाएगी। इसके बदले बोर्ड परीक्षा का पहले की तरह केवल एक सत्र आयोजित होगा।
वहीं सीबीएसई बोर्ड ने कक्षा 9, 10, 11 और 12 के लिए नया सिलेबस भी घोषित कर दिया है। नए सिलेबस में सीबीएसई ने कक्षा 10 और कक्षा 12 के पाठ्यक्रम को दो भागों में विभाजित नहीं किया गया है। इससे पहले जब बोर्ड परीक्षाओं को दो सत्रों में बांटा गया था तो सिलेबस को भी दो हिस्सों में विभाजित कर दिया गया था लेकिन अब सिलेबस को फिर से पहले जैसा स्वरूप दिया गया है।
संशोधित पाठ्यक्रम में इस वर्ष प्रमुख विषयों कुछ कटौती देखी गई है। बोर्ड ने इस वर्ष के लिए अध्यायों की मात्रा को सीमित रखने का निर्णय लिया है। कोरोना के काल के दौरान सीबीएसई द्वारा बनाए गए सिलेबस में 30 प्रतिशत की कटौती की गई थी। अब सिलेबस को प्री-कोविड स्तर पर ही रखा गया है। सीबीएसई द्वारा जारी किए गए सिलेबस के मुताबिक प्रैक्टिकल वाले विषयों जैसे केमिस्ट्री, फिजिक्स,साइकोलॉजी, जियोग्राफी, बायोलॉजी की बोर्ड परीक्षा कुल 70 अंकों की होगी। इन सभी विषयों के लिए प्रैक्टिकल भी आयोजित किए जाएंगे। प्रैक्टिकल 30 अंक के होंगे। वहीं यदि भाषाओं संबंधी विषयों की बात करें तो भाषाओं की परीक्षा 80 अंको के लिए आयोजित की जाएगी। भाषाओं में शेष 20 अंक का इंटरनल असेसमेंट के होंगे।
सीबीएसई कक्षा 10, 12 का संशोधित पाठ्यक्रम आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध है। सीबीएसई से संबंधित स्कूलों के कुछ शिक्षकों ने बताया कि बोर्ड ने सिलेबस में से कुछ अध्याय और इकाइयों को हटा दिया है। इसी तरह पहले हटाए गए कुछ हिस्सा को वापस जोड़ दिया गया है। कुल मिलाकर बोर्ड द्वारा सिलेबस में 30 प्रतिशत की कटौती को बनाए रखा गया है।
गौरतलब है कि बीते वर्षों में कोरोना के मद्देनजर जब बोर्ड परीक्षाएं नहीं ली जा सकी तो उसके उपरांत पिछले वर्ष सीबीएसई बोर्ड ने परीक्षाएं दो अलग-अलग सत्रों में आयोजित करवाने का निर्णय लिया। यह निर्णय इसलिए लिया गया ताकि यदि कोरोनावायरस सहित भी कारण से यदि बोर्ड परीक्षा का कोई एक सत्र रद्द होता है तो सीबीएसई बोर्ड दूसरे सत्र के आधार पर छात्रों का मूल्यांकन कर सकता है।
हालांकि अब सीबीएसई बोर्ड व शिक्षा मंत्रालय, बोर्ड परीक्षाओं का पुराना स्वरूप स्थापित करने का निर्णय ले चुका है। इस निर्णय के मुताबिक कक्षा 10 और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं वर्ष 2023 से पहले की तरह केवल एक ही सत्र में आयोजित की जाएंगी।
--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे