जेबी केमिकल्स ने 246 करोड़ रुपये में किया अज्मार्दा का अधिग्रहण

www.khaskhabar.com | Published : शुक्रवार, 08 अप्रैल 2022, 5:06 PM (IST)

नयी दिल्ली। भारत में दिल का दौरा पड़ने और उच्च रक्तचाप की बढ़ती घटनाओं के कारण कार्डियोलॉजिकल दवाओं की जरूरत को ध्यान में रखते हुये जेबी केमिकल्स एंड फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड ने 246 करोड़ रुपये में स्विट्जरलैंड की दवा कंपनी नोवार्टिस एजी से अज्मार्दा को खरीदा है।

अज्मार्दा दिल संबंधी बीमारियों से ग्रसित रोगियों की दवा है। यह शीर्ष 300 आईपीएम (भारतीय दवा कंपनी) ब्रांड में एक है और जेबी केमिकल्स का यह छठा ब्रांड होगा, जो शीर्ष 300 आईपीएम ब्रांड में शामिल है।

दरअसल, जेबीसीपीएल द्वारा अज्मार्दा का अधिग्रहण कार्डियोलॉजी के क्षेत्र में अपनी पकड़ को मजबूत करने के लिये उठाया एक रणनीतिक कदम है।

सिलैकर और निकार्डिया के बाद अब अज्मार्दा भी जेबी केमिकल्स के कार्डियोलॉजी पोर्टफोलियो में और विस्तार करेगी।

दिल की बीमारी एक क्रॉनिक सिंड्रोम है , जिससे व्यक्ति की जीवन की गुणवत्ता में कमी आ जाती है और उसकी कार्य क्षमता भी घट जाती है। इंडस के शोध अध्ययन के अनुसार, दुनिया भर में दो करोड़ 30 लाख से अधिक लोग दिल संबंधी बीमारी से ग्रसित हैं और भारत इसका अनुपात लगभग प्रति 1000 व्यक्ति 1.2 है।

अज्मार्दा ब्रांड, एक पेटेंट उत्पाद है। यह वैल्सर्टन और सैक्यूबिट्रिल का कंपोजिशन है। आईक्यूवाया मैट के अनुसार इसकी बिक्री 76.8 करोड़ रुपये रही है। बिक्री में लगभग 35 प्रतिशत की तेजी देखी गयी है। यह कार्डियोलॉजी श्रेणी में सबसे तेजी से उभरने वाले ब्रांड में से एक है। यह ब्रांड कार्डियो श्रेणी में जेबीसीपीएल को प्रतिस्पर्धियों के बीच खड़ा कर देगा।

अज्मार्दा ब्रांड भारत में कार्डियोलॉजी श्रेणी में अपनी उपस्थिति को मजबूत करने की जेबी केमिकल्स की समग्र रणनीति के अनुकूल है। स्विस दिग्गज कंपनी नोवार्टिस ने जेबी केमिकल्स को कार्डियो सेक्टर की सर्वश्रेष्ठ कंपनी मानते हुये आज्मार्दा को सौंपा है।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे