मुंबई के बाद अब आगरा, जयपुर, कटरा, जम्मू और दिल्ली में भी बनेंगे पॉड रिटायरिंग रूम

www.khaskhabar.com | Published : सोमवार, 21 फ़रवरी 2022, 1:23 PM (IST)

नई दिल्ली। देश का पहला पॉड रिटायरिंग रूम मुंबई रेलवे स्टेशन पर बनने के बाद अब आगरा, जयपुर, कटरा, जम्मू और दिल्ली के स्टेशनों पर भी यात्रियों की सुविधा के लिए जल्द ही पॉड रिटायरिंग रूम तैयार किया जाएगा।

दरअसल रेलवे ने मुंबई जैसे बड़े स्टेशन पर यात्रियों को ठहरने की बेहतरीन सुविधा का एक नायाब तोहफा दिया है। अब देश में भी विदेशों की तर्ज पर रेलवे स्टेशनों पर पॉड कॉन्सेप्ट रिटायरिंग रूम में यात्रियों को तमाम सुविधा देने की पहल की गई है, जो यात्रियों को सकून देने में चार चांद लगा रहे हैं। भारतीय रेलवे ने मुंबई सेंट्रल स्टेशन पर पहले पॉड होटल से इसकी शुरूआत कर दी है।

भारतीय रेलवे खान-पान और पर्यटन निगम लिमिटेड (आईआरसीटीसी) मुंबई के बाद अब आगरा, जयपुर, कटरा, जम्मू, दिल्ली के स्टेशनों पर भी यात्रियों की सुविधा के लिए इस तर्ज पर रिटायरिंग रूम बनाने की योजना तैयार कर रहा है। इसके लिए उत्तर रेलवे से स्वीकृति भी मांगी गई है। मुंबई के बाद अन्य स्टेशनों पर जगह मुहैया कराने की हरी झंडी मिलते ही पॉड का निर्माण शुरू कर दिया जाएगा। पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर के अनुसार, इस पॉड होटल में ठहरने के लिए 12 घंटे का किराया 999 रुपये तय किया गया है।

पॉड रिटायरिंग रूम में वाईफाई, टीवी, एक छोटा लॉकर, आईना और रीडिंग लाइट, इंटीरियर लाइट, मोबाइल चाजिर्ंग, स्मोक डिटेक्टर, डीएनडी इंडिकेटर आदि जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। पॉड होटल में कई छोटे बिस्तर वाले कैप्सूल होते हैं और यह यात्रियों को रात भर ठहरने के लिए किफायती आवास प्रदान करता है। रेलवे के इतिहास में पहली बार यात्रियों को मुंबई सेंट्रल पहुंचने पर अब एक पूरी तरह से नई बोडिर्ंग सुविधा का अनुभव होगा। आईआरसीटीसी ने ओपन टेंडर प्रक्रिया के जरिए नौ साल के लिए पॉड कॉन्सेप्ट रिटायरिंग रूम की स्थापना, चलाने और प्रबंधन का ठेका दिया है। इसके बाद इसे तीन साल तक बढ़ाया जा सकता है।

रेलवे स्टेशन पर इस तरह के पॉड रिटायरिंग रूम के लिए जरूरी सामान विदेशों से आयात किया जाता है। जापान, दक्षिण कोरिया व चीन इस तरह के पॉड तैयार करता है। बने-बनाए पॉड को सिर्फ इंस्टॉल करना होता है। भारतीय रेलवे के पहले पॉड होटल का उद्घाटन बुधवार को किया था।

गौरतलब है कि मुंबई रेलवे स्टेशन की पहली मंजिल पर बना देश का पहला पॉड होटल करीब तीन हजार स्क्वायर फीट में फैला है। इसमें कैप्सूल की तरह दिखने वाले 48 कमरे हैं जिन्हें क्लासिक पॉड, प्राइवेट पॉड, पॉड्स फॉर वूमेन और दिव्यांगों के लिए बांटा गया है। क्लासिक पॉड की संख्या 30 है जबकि लेडीज के लिए ऐसे सात पॉड बनाए गए हैं। इसके अलावा 10 प्राइवेट पॉड और दिव्यांगों के लिए एक पॉड की सुविधा दी गई है। हम बता दें कि पॉड होटल में कैप्सूल की तरह एक व्यक्ति के सोने के लिए छोटे कमरे होते हैं, जिनमें तमाम तरह की सुविधाएं होती हैं। यह रिटायरिंग रूम की तुलना में सस्ता है। भारतीय रेलवे के यात्री और यहां तक कि आम लोग भी अब अपेक्षाकृत सस्ती दरों पर यहां आधुनिक विश्राम सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं। पॉड डिजाइन का यह रिटायरिंग रूम भारतीय रेलवे का अपनी तरह का पहला रिटायरिंग रूम है।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे