स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है बायीं ओर करवट लेकर सोना, बीमारियों से मिलता है छुटकारा

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 26 जनवरी 2022, 12:40 PM (IST)

दिन भर की तनाव भरी भागदौड़ के बाद इंसान चाहता है कि वह रात को चैन की नींद सोए, लेकिन परिस्थितियों के चलते ऐसा हो नहीं पाता है। आज हर व्यक्ति यह शिकायत करता है कि उसे चैन की नींद नहीं मिल पाती है। कहा जाता है कि दिन भर की थकान के बाद मीठी सी नींद आप के दूसरे दिन की सुबह को खुशनुमा बना देती है। यदि इस नींद में किसी प्रकार का व्यवधान पड़ जाता है तो दूसरे दिन मूड उखड़ा सा रहता है। अच्छी सेहत के लिए नींद लेना जितना महत्वपूर्ण है, उतनी ही अहम होती है, सोते समय आपकी स्थिति। सोते समय आपकी दशा और दिशा क्या है, आप किस करवट सोते हैं, ये सभी मिलकर आपकी सेहत को निर्धारित करते हैं । वैसे तो नींद में हम सहूलियत के अनुसार ही करवट बदलते हैं ,लेकिन बायीं तरफ करवट लेकर सोने के अपने ही कुछ फायदे हैं। आप अपनी नींद को कैसे और किस तरह से बेहतर बना सकते हैं आइए डालते हैं आज कुछ ऐसे उपायों पर—
बायीं तरफ करवट लेकर सोना स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है, इससे आपके दिल पर अधिक दवाब नहीं पड़ता और वह बेहतर ढंग से कार्य कर पाता है । इस तरह से सोने से शरीर के विभिन्न अंगों और दिमाग तक रक्त के साथ ऑक्सीजन का प्रवाह ठीक तरीके से होता है और शरीर के सभी अंग अच्छी तरह से कार्य करते हैं ।

गर्भवती महिलाओं को बायीं ओर करवट लेकर सोना ही सबसे बेहतर है। इससे एड़ी, हाथों और पैरों में सूजन की समस्या नहीं होती है। इस तरह से सोने पर आपको उठने पर थकान महसूस नहीं होगी और पेट की समस्यायें भी हल हो जाएँगी।

बायीं तरफ करवट लेकर सोने से भोजन अच्छी तरह से पचता है और पाचन तन्त्र पर अतिरिक्त दवाब नहीं पड़ता। बायीं और करवट लेकर सोने से शरीर में जमा हुआ टोक्सिन शरीर से बाहर निकल जाता है ।

यदि आपको कब्ज की शिकायत रहती है तो बायीं ओर सोने से कब्ज में राहत मिल सकती है। इससे गुरुत्वाकर्षण के कारण भोजन छोटी आंत से बड़ी आंत में आसानी से पहुंचता है और सुबह पेट साफ होने में आसानी होती है। बायीं ओर करवट लेकर सोने से पेट का एसिड ऊपर की जगह नीचे की ओर ही जाता है, जिससे एसिडिटी और सीने में जलन नहीं होती है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे