राष्ट्रीय युवा महोत्सव का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी

www.khaskhabar.com | Published : मंगलवार, 11 जनवरी 2022, 9:57 PM (IST)

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 जनवरी को सवेरे 11 बजे पुडुचेरी में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से 25वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव का उद्घाटन करेंगे। 12 जनवरी महान दार्शनिक और विचारक स्वामी विवेकानंद जी की जयंती का दिवस है, इसलिए इस उपलक्ष्य में प्रत्येक वर्ष 12 जनवरी राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। स्वामी विवेकानंद की जयंती मनाने के साथ स्वामी जी की शिक्षाएं और शाश्वत विश्वास युवाओं की शक्ति में भारत में बदलते समय के साथ बहुत अधिक प्रतिध्वनित होता है। राष्ट्रीय युवा महोत्सव 2022 के बारे में जानकारी देते हुए, युवा कार्यक्रम विभाग की सचिव उषा शर्मा ने कहा कि महोत्सव का उद्देश्य भारत के युवाओं के मस्तिष्क को आकार देना और उन्हें राष्ट्र निर्माण के लिए एक संयुक्त शक्ति में बदलना है।

उषा शर्मा ने कहा कि इस वर्ष कोविड महामारी के कारण उत्पन्न स्थिति को देखते हुए महोत्सव का आयोजन वर्चुअल माध्यम से 12 से 13 जनवरी, 2022 तक किया जाना निर्धारित किया गया है। उद्घाटन के बाद राष्ट्रीय युवा शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा, जिसका उद्देश्य हमारे जनसांख्यिकीय लाभांश की वास्तविक क्षमता को उजागर करने के लिए युवाओं को राष्ट्र निर्माण की दिशा में प्रेरित करना, प्रज्‍जवलित करना, एकजुट करना और सक्रिय करना है।

शिखर सम्मेलन के दौरान, युवाओं को पर्यावरण, जलवायु परिवर्तन, सतत विकास लक्ष्य एसडीजी के नेतृत्व में विकास, प्रौद्योगिकी, उद्यमिता और नवाचार, स्वदेशी और प्राचीन ज्ञान, राष्ट्रीय चरित्र, राष्ट्र निर्माण जैसे अन्य मुद्दों पर अपने विचार व्यक्त करने का अवसर मिलेगा।

युवा कार्यक्रम विभाग की सचिव ने कहा, "उत्सव के दौरान, प्रतिभागियों को पुडुचेरी में ऑरोविले के इमर्सिव सिटी एक्सपीरियंस, देशभर के स्वदेशी खेल और लोक नृत्य आदि की एक झलक देखने को मिलेगी। फेस्टिवल के अन्य मुख्य आकर्षणों में लाइव म्यूजिकल परफॉर्मेंस, ऑरोविले एंड आर्ट ऑफ लिविंग इंस्ट्रक्टर्स द्वारा इंटरएक्टिव योग सत्र शामिल हैं।"

सचिव ने दोहराया कि वर्चुअल महोत्सव में देशभर से बड़ी भागीदारी होगी। शर्मा ने यह भी कहा कि राष्ट्रीय युवा उत्सव अपनी तरह के सबसे बड़े आयोजनों में से एक है और युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय देश के युवाओं को एक साथ लाने के प्रयास में विभिन्न गतिविधियों में अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर देने के लिए उन्हें एक मंच प्रदान करने के उद्देश्य से इस उत्सव को मना रहा है।

शर्मा ने आगे कहा, "जब हम देश की आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के अवसर पर आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं, तो यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि युवा किसी भी देश की आबादी का सबसे महत्वपूर्ण और गतिशील वर्ग हैं। राष्ट्रीय युवा महोत्सव न केवल राष्ट्रीय एकता को मजबूत करता है, बल्कि देश के युवाओं में सांप्रदायिक सद्भाव और भाईचारे की भावना को भी बढ़ाता फैलाता है।"

सचिव ने कहा, "उत्सव एक मिनी-इंडिया बनाकर एक क्षेत्र भी प्रदान करता है, जहां युवा औपचारिक और अनौपचारिक परिस्थितियों में बातचीत करते हैं और अपनी सामाजिक और सांस्कृतिक विशिष्टता का आदान-प्रदान करते हैं। विविध सामाजिक-सांस्कृतिक परिवेश का यह मिश्रण एक भारत श्रेष्ठ भारत बनाता है।"

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में श्री अरबिंदो घोष और महाकवि सुब्रमण्यम भारती के योगदान और उनके साहित्यिक कार्यों के माध्यम से देश के नागरिकों के बीच राष्ट्रवाद की भावना पैदा करने की दिशा में उनके सार्थक प्रयासों को श्रद्धांजलि के रूप में, 25वां राष्ट्रीय युवा महोत्सव पुद्दुचेरी के साथ साझेदारी में मनाया जा रहा है, जो श्री अरबिंदो और महाकवि सुब्रमण्यम भारती दोनों के विचारों से समृद्ध है।

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री 'मेरे सपनों का भारत' और 'भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के गुमनाम नायकों' पर चयनित निबंधों का अनावरण करेंगे। दो विषयों पर 1 लाख से अधिक युवाओं द्वारा प्रस्तुत निबंधों में से इन निबंधों को चुना गया है। (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे