भावनात्मक होते हैं इन 4 राशियों के जातक, कहीं आप भी तो उनमें नहीं?

www.khaskhabar.com | Published : मंगलवार, 11 जनवरी 2022, 11:22 AM (IST)

जन्म के साथ ही कानों में यह सुनाई देता रहा है कि ज्योतिष शास्त्र में 12 राशियों हैं। इन सभी राशियों का स्वभाव व व्यक्तित्व अलग-अलग होता है। साथ ही इनकी पसंद और नापसंद भी अलग-अलग होती है। इन 12 राशियों मेंं से 4 ऐसी राशियाँ हैं जिनके जातक बहुत भावुक होते हैं। अपने फायदे के लिए लोग इनकी भावुकता का नाजायज फायदा उठाते हैं। ऐसा नहीं है कि सिर्फ प्रतिद्वंद्वी ही ऐसा उनके साथ करते हैं अपितु सगे रिश्तेदार भी उनकी इस कमजोरी का फायदा उठाते हुए अपने काम निकालते हैं। खास खबर डॉट कॉम आज अपने पाठकों ऐसी ही 4 राशियों के बारे में बताने जा रहा है जिनके जातक बहुत भावुक होते हैं।
मेष—इस राशि के जातकों भावनाएँ कूट-कूट कर भरी होती हैं। इस राशि के लोग किस बात को अपने दिल पर लेंगे और किस बात से बेहद प्रसन्न नजर आएंगे इसके बारे में जानना मुश्किल है। इनकी कमजोरी यह होती है कि यह दूसरे के दु:ख को देखकर खुद भी दुखी हो जाते हैं। खूबी इनकी यह है कि यह अपना हर काम पूरी ईमानदारी से करते हैं। इस राशि के जातकों के बारे में ज्योतिष शास्त्र में कहा जाता है कि यदि यह एक बार रोना शुरू कर दें तो इनको चुप कराना मुश्किल होता है।
कर्क—कर्क राशि के जातकों के बारे ज्योतिष शास्त्र यह मानता है कि यह नारियल की तरह होते हैं अर्थात् बाहर से बेहद सख्त और अन्दर से बिलकुल नरम। इनके बारे में यह भी कहा जाता है कि यदि इन्होंने किसी की बात को अपने दिल से लगा लिया तो ये उससे अपने समस्त प्रकार के रिश्तों को समाप्त कर देते हैं। एक बार यदि ये किसी से टूट जाते हैं तो फिर उससे इनका जुड़ाव नहीं हो पाता है।
कन्या—कन्या राशि के लिए ज्योतिष शास्त्र मानता है कि इस राशि के जातक अपनी भावनाओं को व्यक्त नहीं कर पाते हैं। दूसरों के प्रति उनके मन में क्या है यह सामने वाला भी नहीं जान पाता है। कर्क राशि की तरह ही इस राशि के जातक भी छोटी-छोटी बातों को दिल से लगा बैठते हैं। कन्या राशि के स्वामी ग्रह बुध हैं, जो इनका स्वभाव इमोशनल बनाते हैं।
मीन—मीन राशि के जातकों के बारे में कहा जाता है कि यह दूसरों से बहुत ज्यादा उम्मीदें बांध लेते हैं। साथ ही इनमें भावुकता भी ज्यादा होती है। मीन राशि पर गुरु का आधिपत्य है, जो इन्हें भावनात्मक रूप से कमजोर बनाता है।
नोट—दी गई जानकारी पूरी तरह ज्योतिष शास्त्र की मान्यताओं व जानकारियों पर आधारित है। हम यह दावा नहीं करते कि यह पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले अपने धर्मगुरुओं और संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे