इन फलों के सेवन से बढ़ती है सेक्स ड्राइव, उपयोग करके देखिए

www.khaskhabar.com | Published : सोमवार, 10 जनवरी 2022, 3:11 PM (IST)

रिलेशनशिप का एक महत्वपूर्ण हिस्सा सेक्स है जो साथी से नजदीकियों और दूरियों को तय करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अक्सर यह देखा और महसूस किया जाता है कि समय के साथ सेक्स लाइफ का रोमांच खत्म हो जाता है। खासतौर से पुरुषों की सेक्स ड्राइव में कमी इसका कारण बनती है। पुरुषों को अपनी सेक्स ड्राइव बढ़ाने के लिए अपने आहार में कुछ ऐसे फलों को शामिल करना चाहिए जिनको खाने से सिर्फ उनकी सेहत सुधरेगी अपितु जो सेक्स परफॉर्मेंस बढ़ाने का काम करेंगे। ये फल इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या में भी लाभदायक साबित होते हैं। आइए डालते हैं एक नजर उन फलों पर—
केला
केला एक ऐसा फल है जो बड़ी आसानी से मिल जाता है। विटामिन बी से भरपूर ये फल स्टैमिना बढ़ाने का काम करता है। केला खाने से सेक्स परफॉर्मेंस बेहतर होती है साथ ही यह तनाव को भी कम करता है। केले में पाया जाने वाला पोटैशियम सेक्स हार्मोन बढ़ाने का काम करता है।
सेब
सेब यौन इच्छा बढ़ाने में काफी फायदेमंद है। इसमें पाए जाने वाले पॉलीफेनॉल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाते हैं जिससे सेक्सुल फंक्शन ज्यादा बेहतर होता है। सेब शरीर में फिटेस्ट्रोजेन सेक्स हार्मोन को बढ़ाने का काम करता है।
नींबू
नींबू में खूब सारा विटामिन सी पाया जाता है। ये मूड अच्छा करने के साथ सेक्स ड्राइव बढ़ाता है। नींबू में पाए जाने वाले कंपाउंड हाई ब्लड प्रेशर कम करते हैं। इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या आमतौर पर हाई ब्लड प्रेशर से ही जुड़ी होती है। इस तरह नींबू अप्रत्यक्ष रूप से इरेक्टाइल डिसफंक्शन को सुधारता है। हाई ब्लड प्रेशर के अलावा इरेक्टाइल डिसफंक्शन ज्यादा बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल और डायबिटीज की वजह से भी होता है। हर दिन नींबू के सेवन से इन दोनों चीजों को कंट्रोल कर सेक्स ड्राइव आसानी से बढ़ाई जा सकती है।
तरबूज
इन फलों की सूची में सबसे पहला नाम तरबूज का आता है। तरबूज को नेचुलर वियाग्रा भी कहा जाता है। इसमें खूब सारे एंटीऑक्सीडेंट्स और अमीनो एसिड होते हैं जो ब्लड फ्लो को सुधारने का काम करते हैं। तरबूज में पाया जाने वाला सिट्रूलीन रक्त वाहिकाओं को स्वस्थ रखता है जिससे इरेक्टाइल डिसफंक्शन की समस्या कम होती है। सिट्रूलीन में इरेक्टाइल डिसफंक्शन को सुधारने की क्षमता होती है।
चकोतरा
सिट्रस फलों में चकोतरा सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है। इसमें पाए जाने वाले कई तत्व दवा की तरह काम करते हैं। वियाग्रा में पाए जाने वाला सिल्डेनाफिल इनग्रेडिएंट पुरुषों के शरीर में आसानी से अवशोषित नहीं होता है। लेकिन अगर इसके साथ चकोतरा भी खाया जाए तो इसके बेहतरीन परिणाम मिलते हैं। चकोतरा खाने से सिल्डेनाफिल आसानी से खून में मिल जाता है।
कीवी
कीवी में संतरे से ज्यादा विटामिन सी होता है। इसके अलावा इसमें विटामिन-ई और सेरोटोनिन भी भरपूर मात्रा में होता है। एक स्टडी के मुताबिक कीवी इरेक्टाइल डिसफंक्शन के इलाज में इस्तेमाल टाडालाफिल दवा के नकारात्मक प्रभावों को कम करता है। कीवी इम्यूनिटी बढ़ाने में भी बहुत फायदेमंद है।
अनार
अनार खाना हर किसी को पसंद नहीं होता है लेकिन ये फल हर तरह के पोषक तत्वों से भरा हुआ है। वैसे तो अनार हीमोग्लोबिन बढ़ाने और ब्लड फ्लो को सुधारने के लिए जाना जाता है लेकिन स्टडीज के मुताबिक ये इरेक्टाइल डिसफंक्शन के इलाज में भी फायदेमंद है। एक सर्वे के मुताबिक एक ग्लास अनार का जूस पीने वाले पुरुषों ने सेक्स ड्राइव के मामले में बेहतर अनुभव किया। इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स पुरुषों के लिए फायदेमंद हैं।

नोट—यह खास खबर डॉट कॉम के अपने विचार हैं। इन्हें आजमाने से पूर्व अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य करें।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे