खेलो इंडिया यूथ गेम्स की तैयारी 31 दिसंबर तक पूरी हो जाएगी

www.khaskhabar.com | Published : शनिवार, 04 दिसम्बर 2021, 9:57 PM (IST)

चंडीगढ़ । हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार को कहा कि पंचकूला में खेले जाने वाले खेलो इंडिया यूथ गेम्स के चौथे सीजन की सभी तैयारियां 31 दिसंबर तक पूरी कर ली जाएंगी। 5 से 14 फरवरी तक कुल 25 खेल आयोजन होंगे, जिसमें करीब 10,000 खिलाड़ियों के भाग लेने की संभावना है।

उद्घाटन समारोह पांच फरवरी को पंचकूला के सेक्टर तीन स्थित ताऊ देवीलाल स्टेडियम में होगा।

मुख्यमंत्री ने स्टेडियम में खेलों की तैयारियों का जायजा लिया। उनके साथ खेल मंत्री संदीप सिंह भी मौजूद थे।

खट्टर ने हरियाणा को खेलो इंडिया यूथ गेम्स की मेजबानी की अनुमति देने के लिए प्रधानमंत्री और केंद्रीय खेल और युवा मामलों के मंत्रालय का आभार व्यक्त किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार पांच क्षेत्रीय खेलों को जोड़ा गया है। इनमें पंजाब का गतका, मणिपुर का थांग-ता, केरल का कलारीपयट्टू, महाराष्ट्र का मलखंभ और योगासन शामिल हैं।

खेलों के लिए आवश्यक बुनियादी ढांचे के विकास पर 250 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी, जिसमें से 150 करोड़ रुपये बुनियादी ढांचे के विकास और बाकी उपकरण और विकास सुविधाओं पर खर्च किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि खिलाडिय़ों के ठहरने, खाने और लाने-ले जाने की पूरी व्यवस्था की जा रही है।

पंचकूला के अलावा अंबाला, शाहाबाद, चंडीगढ़ और दिल्ली में खेलों का आयोजन किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकांश खेलों के फाइनल मैच 8 फरवरी से शुरू होंगे, जिसका सीधा प्रसारण स्टार स्पोर्ट्स चैनल के माध्यम से किया जाएगा।

खेलों के दौरान कोविड-19 दिशानिर्देशों के अनुपालन के संबंध में एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा खेलों में प्रगति कर रहा है और राज्य सरकार हर साल खेलों का बजट बढ़ा रही है। वर्ष 2014-15 में जहां खेलों का बजट 151 करोड़ रुपये था, वहीं अब 2021-22 में बढ़कर 394 करोड़ रुपये हो गया है, जो कि दोगुने से भी ज्यादा है।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कारण बंद हुई 500 खेल नर्सरी को सरकार की कैच देम यंग पॉलिसी के तहत नवोदित खिलाड़ियों में खेल प्रतिभा को निखारने के लिए पुनर्जीवित किया गया है। इसके अलावा 500 और खेल नर्सरी विकसित की जाएंगी।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण स्तर पर खेल स्टेडियमों का जीर्णोद्धार किया जा रहा है। साथ ही सरकार द्वारा मैपिंग भी की जा रही है और जहां खेल स्टेडियमों की संख्या कम है, वहां जरूरत के मुताबिक खेल स्टेडियम बनाए जाएंगे।

खट्टर ने कहा कि खिलाड़ियों को मानसिक और शारीरिक रूप से खेलों के लिए तैयार करने के लिए पंचकूला में एक वैज्ञानिक प्रशिक्षण और पुनर्वास केंद्र स्थापित किया जा रहा है। इसके अलावा करनाल, हिसार, रोहतक और गुरुग्राम में भी ऐसे केंद्र स्थापित किए जाएंगे। (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे