गुणवत्ता की शिक्षा के साथ-साथ संविधान एवं नैतिक मूल्यों से भी अवगत करवाएं - राज्यपाल

www.khaskhabar.com | Published : गुरुवार, 14 अक्टूबर 2021, 5:26 PM (IST)

चण्डीगढ़ । संवैधानिक मूल्यों, कानून एवं विधि का ज्ञान होने से ही युवा अपने अधिकारों और कर्तव्यों के प्रति और सजग होंगे, इसलिए शिक्षकों को चाहिए कि वे विद्यार्थियों को गुणवत्ता की शिक्षा के साथ-साथ संविधान एवं नैतिक मूल्यों से भी अवगत करवाएं। यह बात हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने आज डा. अम्बेडकर नैशनल लाॅ विश्वविद्यालय सोनीपत की कुलपति डा. विनय कपूर मेहरा से बातचीत में कही। डा. मेहरा ने वीरवार को राजभवन में राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय से शिष्टाचार मुलाकात की और विश्वविद्यालय की गतिविधियों के बारे में अवगत करवाया।

राज्यपाल दत्तात्रेय ने कहा कि आज युवाओं को अपने अधिकारों एवं कर्तव्यों के बारे में जागरूक करने की आवश्यकता है। नागरिकों को अधिकारों और कर्तव्यों का ज्ञान होने से एक आदर्श समाज की स्थापना होगी और समाज अपराध मुक्त होगा। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 में भी संवैधानिक एवं नैतिक मूल्यों पर बल दिया गया है।


उन्होंने कहा कि कानूनी शिक्षा के संदर्भ में, राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (एनईपी) में स्पष्ट रूप से उल्लेख किया गया है कि भारत में कानूनी शिक्षा को विश्व स्तर पर प्रतिस्पर्धी होने, सर्वोत्तम प्रथाओं को अपनाने और न्याय की व्यापक पहुंच और समय पर वितरण के लिए नई तकनीकों को अपनाने की आवश्यकता है। उन्होंने विश्वस्तरीय एवं गुणवत्ता की शिक्षा के लिए ख्याति प्राप्त व प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों से एम.ओ.यू. साईन करने पर बल दिया।

कुलपति प्रो. विनय कपूर मेहरा ने बताया कि वे विश्वविद्यालय में बेहतर शैक्षणिक वातावरण स्थापित करने व विधि की शिक्षा में विश्व स्तरीय शिक्षा प्रदान के लिए कृतसंकल्प है। इसके लिए विश्वविद्यालय स्तर पर देश के सात विश्वविद्यालयों के साथ शोध गतिविधियां बढ़ाने व फैकल्टी एक्सचेंज करने के लिए एम.ओ.यू. भी साइन किए हैं। उन्हें विश्वास है कि एम.ओ.यू. के माध्यम से विद्यार्थियों को अनुसंधान कार्यों के प्रति और गंभीर होने व इच्छुक होने के साथ-साथ विधि के क्षेत्र में शिक्षा के नए अवसर प्राप्त होंगे। उन्होंने शिष्टाचार भेंट में राज्यपाल श्री दत्तात्रेय को स्वच्छ पर्यावरण के लिए पौधा भी भेंट किया और यह भी कहा कि विश्वविद्यालय परिसर पूरी तरह पॉलीथिन मुक्त बनाने का प्रयास जारी है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे