डेयरी टेक्‍नोलॉजी में हैं उत्तम करियर

www.khaskhabar.com | Published : सोमवार, 20 जून 2016, 4:45 PM (IST)

एक दशक पहले भारत में दूध डेरी का 5 फीसदी दूध ही डेरी से उत्पादित होता था। लेकिन धीरे धीरे इसमें इजाफा हो रहा है औरअब ये 15 प्रतिशत हो गया है। जिसके बाद इसमें करियर की संभावनाएं भी बढ़ गई है। आपको जानकर हैरानी होगी कि, फील्‍ड में भारत के विकास का अंदाजा इस बात से भी लगा सकते हैं कि अमेरिका के बाद भारत दूध उत्पादन में दूसरे नंबर पर है। डेयरी टेक्नोलॉजी से जुडे प्रोफेशनल का काम दूध उत्पादन, प्रोसेसिंग, पैकेजिंग, स्टोरेज, ट्रांसपोर्ट, डिस्ट्रीब्यूशन से जुडा होता है।


[# अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे]

 योगयता डेयरी उद्योग में भविष्य संवारने के लिए डेयरी टैक्नोलॉजी में बी.टेक., बी.एससी., एम.टेक, एम.एससी. और पी.एचडी. कर सकते हैं। बी.एससी. 3 साल, बी.टेक 4 साल और एम.एससी. 2-2 साल के कोर्स होते हैं। बी.टेक. में एडमिशन के लिए 12वीं में साइंस विषय होने बेहद आवशयक है।    

विज्ञान जरूरी डेयरी टेक्नोलॉजी में करियर बनाने के इच्छुक लोगों की रुचि साइंस में होनी जरूरी है। काम के प्रति समर्पित और नई चीजों को जानने की कोशिश करते रहें। सबसे जरूरी है कि इन लोगों को शहर की सुख-सुविधाओं से गांवों में भी जीवन जीने का आदी होना चाहिए। 

प्रमुख संस्‍थान:सेठ एम.सी. कालेज ऑफ डेयरी टैक्नोलॉजी, आनंद कैम्पस आनंद, गुजरातसंजय गांधी इंस्टीच्यूट ऑफ डेयरी टैक्नोलॉजी, पटनाउस्मानिया विश्वविद्यालय, हैदराबादइंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर,पश्चिम बंगाल यूनिवर्सिटी ऑफ एनीमल एंड फिशरीज साइंस, कोलकाता राजेन्द्र प्रसाद एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी समस्तीपुर बिहार