अखिलेश यादव ने कृषि कानूनों को बताया डेथ वारंट

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 27 जनवरी 2021, 11:35 AM (IST)

इटावा । समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नए कृषि बिल को लेकर निशाना साधा और कहा यह किसानों के लिए डेथ वारंट है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज सैफई स्थित मेला मैदान में ध्वजारोहण कर 72वां गणतंत्र दिवस मनाया। उन्होंने कहा कि किसान बिल का विरोध करने पर सपा के कार्यकर्ताओं और नेताओं के घरों पर पुलिस छापेमारी कर रही है।

कहा कि, "किसान बिल को जबरिया सदन में पास किया गया है। जबरिया पास किया गया किसान बिल हकीकत में डेथ वारंट है। जनता का पैसा बना देश का सब कुछ बेचा जा रहा है। जब हम आप अपने अधिकारों को अगर मांगने के लिये सड़को पर निकले तो भाजपा के लोग राजनैतिक कहते हैं। पंजाब के किसानों ने देश में अपनी मांगों को लेकर अलख जगा दी है। इसलिए पंजाब के किसान वाकई में बधाई के पात्र हैं।"

उन्होंने कहा कि, "आज ही देर रात बड़ी तादात में समाजवादी साथियों को गिरफ्तार किया गया है। तिरंगा ट्रैक्टर रैली को रोकने की भरसक पुलिस ने कोशिश की लेकिन कामयाब नही हो सके हैं। लोकतंत्र बचाने के लिये भाजपा को हराना बेहद जरूरी है।"

अखिलेश ने कहा कि, "हमें देश की सेना पर गर्व है। सभी जातियों के लोग इस देश में रहते हैं। यही देश की पहचान है। देश की आजादी के लिये हर जाति के लोगों ने अपनी शहादत दी है।"

मुख्यमंत्री योगी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा, "14 और 15 करोड़ लोगों को नौकरी देने का दावा करते हैं, लेकिन हकीकत उससे बिल्कुल ही अलग है। कोई भी विकास कार्य योगी सरकार नहीं कर सकी है। सपा सरकार में जो काम हुआ था उसके बाद कोई भी काम नहीं हुआ है।"

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी किसी भी मेधावी छात्र को लैपटॉप नही दे पाए हैं, क्योंकि मुख्यमंत्री को लैपटॉप चलाना नहीं आता है। अमेरिका में हुए राजनीतिक बदलाव का हवाला देते हुए अखिलेश ने कहा कि गोरे काले का भेद करने वाले आज अमेरिका में सत्ता से बाहर हो गए हैं। भारत में भी नफरत फैलाने वाले भी सत्ता से बाहर हो जाएंगे।

राष्ट्रीय महासचिव प्रो.रामगोपाल यादव ने कहा कि, "केंद्र सरकार सब कुछ बेचने में जुटी हुई है। केंद्र सरकार केवल 10 लोगों के लिए काम कर रही है और सारे देश की जनता को मूर्ख बना रही है।"

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे