खेल मंत्री ने पूर्व हॉकी खिलाड़ी एमपी सिंह की मदद का किया वादा

www.khaskhabar.com | Published : शुक्रवार, 30 अक्टूबर 2020, 1:20 PM (IST)

नई दिल्ली| खेल मंत्री किरण रिजिजू ने गुरुवार को पूर्व हॉकी खिलाड़ियों के एक समूह को आश्वासन दिया है कि वह ओलम्पियन मोहिंदर पाल सिंह, जिनकी दोनों किडनियां खराब हैं, को मंत्रालय की स्कीम के जरिए मदद मुहैया कराएंगे।

मंत्री ने गौतम बुद्ध नगर के सांसद से भी कहा है कि वह अपने क्षेत्र में रहने वाले एमपी सिंह की मदद करें।

58 साल के सिंह नोएडा में रहते हैं जो गौतम बुद्ध नगर में आता है। यहां से महेश शर्मा सांसद हैं।

इस बैठक में एमपी सिंह की पत्नी भी मौजूद थीं। बैठक के दौरान ही रिजिजू ने महेश शर्मा को फोन किया और उनसे मदद करने की अपील की।

भारत की हॉकी टीम के पूर्व खिलाड़ी एमपी सिंह को एक महीने से किडनी दाता की जरूरत है। सोशल मीडिया पर भी उनके घर वालों ने इसकी अपील की है। वह अपोलो अस्पताल में भर्ती थे और मंगलवार को ही उनकी छुट्टी हुई है। वह हालांकि सप्ताह में कुछ दिन डायलसिस के लिए अस्पताल जाएंगे।

एमपी सिंह की पत्नी शिवजीत सिंह ने कहा, "मंत्री की प्रतिक्रिया सकारात्मक थी। उन्होंने कहा है कि वह जो कर सकते हैं वो करेंगे। जहां तक किडनी दाता की बात है तो उन्होंने कहा है कि वह इसमें भी मेरे पति की मदद करेंगे।"

इस बैठक में हिस्सा लेने वालों में पूर्व भारतीय खिलाड़ी महाराज कृष्णा कौशिक, वीनीत कुमार, रोमियो जेम्स, अरविंद छाबड़ा और पूर्व कोच हरेंदर सिंह हैं।

कौशिक ने कहा कि उनको भी उम्मीद है कि वह एमपी सिंह को मदद मिलेगी।

कौशिक ने आईएएनएस से कहा, "हम छह लोगों ने आज मंत्री के घर पर उनसे मुलाकात की थी और उनकी प्रतिक्रिया सकारात्मक रही। उन्होंने कहा कि खेल मंत्रालय के नियमों के हिसाब से वह जो कर सकते हैं करेंगे। उन्होंने बताया कि स्थानीय सांसद भी मदद कर सकते हैं। उन्होंने बैठक के बीच में ही महेश शर्मा को फोन किया और एमपी सिंह की मदद करने को कह दिया है और उनकी फाइल भी भेज दी है। मैं बैठक में जो हुआ उससे काफी खुश हूं। एमपी सिंह की पत्नी भी बैठक में थी और जब उन्होंने कहा कि उनके परिवार में कोई नहीं है जो किडनी दे सके। उन्होंने मंत्री से इस संबंध में भी मदद की गुहार लगाई।"

हरेंदर ने कहा, "जब मंत्री ने यह सुना तो उन्होंने कहा कि वह अस्पताल वालों से बात करेंगे, उन्होंने हालांकि यह नहीं बताया कि वह किस अस्पताल से बात करेंगे।"

पंडित दिनदयाल उपाध्याय नेशनल वेलफेयर फंड के जरिए खेल मंत्रालय खिलाड़ियों और मदद मुहैया कराता है।

--आईएएनएस

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे