योगी सरकार 1 नवंबर से पर्यटकों के लिए खोलेगी दुधवा नेशनल पार्क

www.khaskhabar.com | Published : गुरुवार, 29 अक्टूबर 2020, 3:23 PM (IST)

लखनऊ । हरे भरे जंगल और उनके बीच स्‍वच्‍छंद विचरण करते वन्‍यजीवों के मनोरम दृश्‍य देखने का इंतजार कर रहे लोगों की चाहत योगी सरकार पूरी करने जा रही है । यूपी सरकार 1 नवंबर से दुधवा नेशनल पार्क को पर्यटकों के लिए खोलने जा रही है । कोविड की चुनौती के बीच यूपी के सबसे बड़े वन पर्यटन क्षेत्र को खोलने के फैसले को योगी सरकार का बड़ा कदम माना जा रहा है ।

आपदा के बीच अवसर तलाशने के मूल मंत्र पर चल रही योगी सरकार दुधवा नेशनल पार्क को पर्यटन के लिए खोल कर देश और दुनिया के सामने एक और साहसिक उदाहरण पेश करने जा रही है । इतना ही नहीं कोरोना के कारण पिछले सत्र में करीब 4 महीने पहले बंद हुए दुधवा को इस बार परंपरागत तिथि से भी 15 दिन पहले ही खोला जा रहा है । राज्‍य सरकार ने नेशनल पार्क को खोलने के साथ ही कोरोना से निपटने की तैयारियां भी कर ली हैं ।
दुधवा आने वाले पर्यटकों को सोशल डिस्‍टेंसिंग के पालन ,मास्‍क पहनने और सेनिटाइजेशन के निर्देश खास तौर पर जारी किए गए हैं । 10 साल से कम उम्र के बच्‍चों को जंगल सफारी की सैर करने की अनुमति नहीं होगी । रुकने,खाने और घूमने के नियमों में कोरोना को देखते हुए कई तरह के बदलाव किए गए हैं । एक कमरे में दो से अधिक पर्यटकों के रुकने की अनुमति नहीं होगी । कैंटीन में एक साथ कई लोग खाना नहीं खा सकेंगे। निश्‍चित संख्‍या में ही कैंटीन में एक बार में प्रवेश दिया जाएगा । पर्यटक इस बार हाथी की सवारी भी नहीं कर सकेंगे । सोशल डिस्‍टेंसिंग के नियम को देखते हुए हाथी की सवारी पर रोक लगाई गई है। हाथी की सवारी न होने से पर्यटक गैंडा सफारी भी नहीं जा सकेंगे। पर्यटकों को सठियाना, सोनारीपुर, किशनपुर समेत बांके ताल तक सैलानियों को सैर करने की अनुमति होगी । नेशनल पार्क खोलने से पहले कच्‍चे मार्गों को दुरुस्‍त करने के साथ ही साफ सफाई और रास्‍तों से अवरोध हटाने का काम लगभग पूरा कर लिया गया है। योगी सरकार दुधवा में पर्यटन शुरू करने के साथ जहां आर्थिक ढांचे को मजबूत करने की कोशिश कर रही है वहीं स्‍थानीय लोगों को रोजगार से जोड़ने की योजना पर भी काम कर रही है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे