यूपी में 2022 तक 12734 मेगावाट हो जाएगी बिजली उत्पादन क्षमता - श्रीकांत शर्मा

www.khaskhabar.com | Published : सोमवार, 21 सितम्बर 2020, 3:26 PM (IST)

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा ने सोमवार को कहा कि यूपी में विद्युत उत्पादन क्षमता 2022 तक 12734 मेगावाट हो जाएगी। ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने सोमवार को उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उत्पादन निगम की निर्माणाधीन तापीय व काम कर रही इकाईयों की समीक्षा की। अभी राज्य में 5,474 मेगावाट उत्पादन होता है। मेजा में अक्टूबर से 660 मेगावाट उत्पादन, हरदुआगंज में दिसंबर से 660 मेगावाट की निकासी हो जाएगी। उन्होंने निर्देश दिया कि सभी निर्माणाधीन इकाईयों का काम तय समय पर पूरा हो, जिससे प्रदेश ऊर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बन सके।

ऊर्जा मंत्री ने बताया कि मेजा में 12,176 करोड़ की लागत से उत्पादन निगम व एनटीपीसी के ज्वाइंट वेंचर से 660 मेगावाट की दो यूनिटें बनाई जा रही हैं। इसकी 660 मेगावाट की एक यूनिट पिछले साल अप्रैल में शुरू कर दी गई थी। वहीं 6,011़83 करोड़ की लागत की हरदुआगंज तापीय परियोजना से भी 660 मेगावाट विद्युत उत्पादन दिसंबर में शुरू हो जाएगा।

उन्होने बताया कि 10,416 करोड़ की लागत से निर्माणाधीन ओबरा-परियोजना की दोनों यूनिटों से 660-660 मेगावाट विद्युत का उत्पादन भी मार्च 2022 तक शुरू हो जाएगा। वहीं 10,566 करोड़ की लागत से बन जवाहरपुर तापीय परियोजना की भी दोनों यूनिटों से भी 660-660 मेगावाट विद्युत की निकासी की जाने लगेगी।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा 5,816़70 करोड़ की लागत से पनकी में शुरू कराई गई पनकी तापीय विद्युत परियोजना से दिसंबर 2021 में ही विद्युत निकासी शुरू हो जाएगी। वहीं घाटमपुर में उत्पादन निगम व एनएलसी के साथ ज्वाइंट वेंचर में निर्माणाधीन तापीय परियोजना की तीनों इकाईयां भी मई 2022 से शुरू हो जाएंगी। इस परियोजना पर 17,237़80 करोड़ की लागत आ रही है। इससे 1980 मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा।

उन्होंने बताया कि इन परियोजनाओं के शुरू होने से प्रदेश के उत्पादनगृहों की क्षमता बढ़कर 12,734 मेगावाट हो जाएगी। इसमें 9,434 मेगावाट राज्य विद्युत उत्पादन निगम व ज्वाइंट वेंचर से 3,300 मेगावाट विद्युत का उत्पादन शामिल है।

--आईएएनएस


ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे