अयोध्या : सीएम योगी कल राम मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेने जाएंगे

www.khaskhabar.com | Published : शनिवार, 01 अगस्त 2020, 11:56 AM (IST)

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कल राम मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेने के लिए अयोध्या जाएंगे। बता दें कि श्रीरामजन्मभूमि मंदिर निर्माण की तिथि पांच अगस्त तय की गई है। इसे लेकर अयोध्या में तैयारियां तेज कर दी गई हैं। कलाकृतियों और रंग रोगन से राम की नगरी को सजया जा रहा है। नगर निगम भी एक लाख दीपक जलाने की तैयारियों में लगा हुआ है। भूमि पूजन से पहले अयोध्या को संवारा जा रहा है।

अयोध्या के नगर आयुक्त नीरज शुक्ल ने बताया कि मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप अयोध्या को साजने और संवारने का काम बहुत तेज गति से हो रहा है। नया घाट पर बने रेलवे पुल पर खूबसूरत पेंटिंग शुरू हो गई है। जिस प्रकार से दीपोत्सव में अयोध्या को सजाया गया था, उससे भी ज्यादा निखारने का काम चल रहा है। राम से जुड़ी कलाकृतियों दीवारों पर देखने को मिलेंगी। इसके अलावा दीवारों में राम के चित्रों के साथ अन्य महापुरुषों के भी चित्र दिखेंगे। इसके अलावा नगर निगम द्वारा विभिन्न जगहों में 1 लाख दीपक जालाये जाएंगे।

उन्होंने बताया की साकेत डिग्री कालेज से लेकर हनुमानगढ़ी तक रंगाई पुताई का काम हो रहा है। इसके अलावा बीच बीच में कलाकृतियां बनायी जा रही है। इसके अलावा साफ-सफाई की व्यवस्था के रात दिन कर्मचारी लगे हुए है। इसके अलावा रंगाई पुताई का कार्य भी रात दिन चालू है। साकेत से लेकर हनुमागढ़ी तक घरों एक थीम से रंगा जाएगा। हालांकि अभी इसका रंग नहीं तय हो पाया है। इसके अलावा 500 कर्मचारी जितनी भी नालियां सड़कों की मरम्मत होगी। गेट और फ्लाईओवर में रंग रोगन और कलाकृतियों को उकेरा जा रहा है।

रामजन्मभूमि की रेलिंग की केसरिया रंग से रंगा जा रहा है। 67 एकड़ के जमीन को जिलाधिकारी कार्यालय ने अपने अंडर में लेकर काम कर रहा है। तीन अगस्त को होने वाले सारे अनुष्ठान की जिम्मेदारी ट्रस्ट उठाएगा। बिजली की व्यवस्था भी मजबूत होगी।

उधर विश्व हिंदू परिषद सोशल मीडिया के माध्यम से अनुष्ठान में सामाजिक दूरी बनाते हुए कार्यक्रम में शामिल होने की लोगों से अपील कर रहे हैं। अयोध्या शोध संस्थान के प्रशासनिक अधिकारी रामतीरथ ने बताया कि 5 अगस्त को जन्मभूमि प्रांगण में एक प्रदर्शनी लगेगी, जिसमें जन्मभूमि की खुदाई में मिले अवशेष मंदिर आंदोलन से जुड़े फोटोग्राफी, रामलीला से जुड़ी कलाकृतियां का प्रदर्शन होगा। ट्रस्ट के सदस्य अनिल मिश्रा ने बताया कि रामन्दिर निर्माण के भूमि पूजन के लिए कई अतिविशिष्ठ जनों को आमंत्रित किया जाएगा। मंदिर आंदोलन से जुड़े सभी व्यक्तियों को आमंत्रण भेजा जाएगा। वह अपनी स्वस्थ्य या अन्य सुविधाएं देखते हुए इसमें शामिल होंगे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे