जीत के बाद मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के पैतृक गांव सिवानी में जश्न का माहौल

www.khaskhabar.com | Published : गुरुवार, 13 फ़रवरी 2020, 7:28 PM (IST)

निशा शर्मा
चंडीगढ़। आम आदमी पार्टी (आप) के दिल्ली विधानसभा चुनावों में भारी जीत के बाद हरियाणा में मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के पैतृक गांव सिवानी में जश्न का माहौल है। केजरीवाल के लगातार तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने पर गांव के लोगों ने ख़ुशी जताई है। गांव के लोगों का मानना है कि केजरीवाल अपने काम के दम पर तीसरी बार मुख्यमंत्री बने हैं। सिवानी क्षेत्र के खेड़ा गांव में 16 अगस्त, 1968 को जन्मे केजरीवाल हरियाणा के लोगों के लिए राजनीति के चमकते सितारे हैं। उनकी इस उपलब्धि पर गांव के लोगों को गर्व है।

दिल्ली में जैसे ही मतगणना शुरु हुई, सिवानी गांव के लोग अपने अपने घरों में टीवी चलाकर बैठ गए। केजरीवाल के परिजन भी लगातार अपडेट लेते रहे। 'आप' की जीत पर लोगों ने आप के चुनाव निशान वाली टोपियां पहन कर मिठाई बांट अपनी ख़ुशी का इजहार किया। सिवानी गांव के महेंद्र पंडित ने बताया कि, 'केजरीवाल के परिजन कई साल पहले खेड़ा गांव छोड़ कर सिवानी मंडी चले गए थे। उनके परिजनों ने अपना मकान धर्मशाला और जमीन गौचर भूमि के लिए दान दे दी थी। गांव के लोग जब भी केजरीवाल के पास जाते हैं, वे बड़े प्यार से मिलते हैं। अपने गांव के लोगों को देखकर वे न केवल खुश होते हैं, बल्कि उन्हें खूब इज्जत भी देते हैं।'

केजरीवाल के चाचा गिरधारी लाल का कहना है कि, 'अरविन्द को दिल्ली में उसके काम का इनाम मिला है।' उनकी चाची पिस्ता देवी बोलीं, 'पिछली बार की तरह इस बार भी पूरा परिवार अरविन्द के शपथ ग्रहण समारोह में जाएगा।' घर में किशन के नाम से पुकारे जाने वाले अरविन्द के लिए उनकी चाची की इच्छा है कि एक दिन उनका भतीजा लाल किले से तिरंगा फहराये।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे