आंखों में मिर्च डालकर कार लूटने वाले चार बदमाश गिरफ्तार

www.khaskhabar.com | Published : शनिवार, 08 फ़रवरी 2020, 7:13 PM (IST)

जयपुर । जिले की हरमाड़ा थाना पुलिस ने आंखों में मिर्च पाउडर डालकर कार लूटने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर चार बदमाशों को गिरफ्तार किया हैं। पुलिस ने उनके कब्जे से लूटी हुई दो कार भी बरामद की हैं। पकड़े गए आरोपियों में लूटी हुई कार खरीदने वाला आरोपी भी शामिल हैं। पुलिस पूछताछ में बदमाशों ने एक दर्जन से अधिक वारदात कबूली हैं।
एडिशनल डीसीपी (पश्चिम) बजरंग सिंह ने बताया कि 3 फरवरी को पीड़ित महेन्द्र ने थाने में मामला दर्ज करवाया था। जिसमें बताया था कि वह कार लेकर खासा कोठी पुलिया के नीचे खड़ा था। तभी उसके पास दो लड़के आए और कहा कि हमारे ताऊजी खत्म हो गए है, हमें नींदड़ गांव ले चलो। इस पर वह उन्हें लेकर नींदड़ लेकर जा रहा था, तभी नींदड घाटी के पास एक बदमाश लघुशंका करने के बहाने नीचे उतरा। इसी दौैरान एक बदमाश ने उसकी दोनों आंखों में मिर्च पाउडर डाल दिया। इससे वह चीखता हुआ बाहर आया। आंखों में मिर्च डालने के बाद बदमाश उसकी कार लूटकर भाग गए। लूट की घटना के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर एक टीम को अमरोहा यूपी और केकड़ी अजमेर के लिए रवाना किया गया। पुलिस ने इस मामले में आरोपी इमरान को उत्तर प्रदेश से और फैजल, जितेन्द्र सिंह उर्फ जीतू को लूट के आरोप में गिरफ्तार किया गया। इसके साथ ही लूटी हुई कार खरीदने के मामले में जयसिंह को गिरफ्तार किया। पुलिस ने बदमाशों के कब्जे से दो लग्जरी कार बरामद कर ली। पुलिस ने अमरोहा यूपी हाल मेहनत नगर हसनपुरा निवासी इमरान और जालूपुरा निवासी फैजल, खातीपुरा वैशाली नगर निवासी जितेन्द्र सिंह उर्फ जीतू और पृथ्वीराज नगर रोड करधनी निवासी जयसिंह को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी फैजल, इमरान, जितेन्द्र सिंह उर्फ जीतू, नासिर खान और वसीम अहमद द्वारा सिंधी कैंप बस स्टैण्ड के पास बैठकर कार लूटने की योजना बनाई। जिसको अंजाम देने के लिए इमरान और वसीम अहमद रात दो बजे खासाकोठी पुलिया के नीचे सुनसान जगह में खड़ी कार के पास गए और कार चालक को कहा कि हम दिल्ली से आए है। हमारे ताऊजी की मौत हो गई और हमें नींदड गांव जाना है। इस पर चालक महेन्द्र ने कहा कि यह गाड़ी उबेर कम्पनी में चलती है आप मोबाइल से बुक करवा दो। इस पर आरोपियों ने कहा कि उनके पास बैलेन्स नहीं है। कई बार बोलने के बाद वह उसे ५०० रुपए ले जाने के लिए तैयार हो गया। नींदड पहाड़ी के पास आरोपी लघुशंका के लिए उतरे और महेन्द्र की आंखों में मिर्च का पाउडर डाल दिया जिससे वह चिल्लाता हुआ बस्ती की तरफ भागा। तभी पीछे से आ रही कार से नासिर खान उतरा और परिवादी की कार को घुमाकर ले भागा। पीछे आ रही कार भी उसके पीछे पीछे चली गई। कनकपुरा रेलवे स्टेशन के पास जाकर परिवादी की कार की नम्बर प्लेट को चेंज कर उस पर दूसरी नम्बर प्लेट लगाकर फागी रोड पर गांव भगेरा केकड़ी अजमेर में ले जाकर खड़ा कर दिया। इसके बाद कार का सौदा कर आरोपी जयसिंह से ७५ हजार रुपए में करने के बाद कार उसे संभला दी। आरोपी जयसिंह ने कार वैशाली नगर स्थित एक वर्क शॉप में खड़ी कर दी। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से कार को बरामद कर लिया।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे