ऑनलाइन सामान मंगवाने और पार्सल भेजने के नाम पर दो लोगों से पांच लाख रुपए की ठगी

www.khaskhabar.com | Published : शुक्रवार, 17 जनवरी 2020, 6:48 PM (IST)

जयपुर। राजधानी में साइबर ठगी थमने का नाम नहीं ले रही है। ऑनलाइन सामान मंगवाना व पार्सल भेजने के नाम पर दो लोगों से पांच लाख रुपए ठगने का मामला सामने आया है। पीड़ितों ने इस संबंध में गुरुवार को विशेष अपराध व साइबर थाने में मामला दर्ज करवाया है।
फेसबुक पर दोस्ती गांठ कर गिफ्ट पार्सल भेजने के नाम पर ठगे सवा लाख: सिरसी रोड वैशाली नगर निवासी रूचि ने मामला दर्ज करवाया है कि उसकी दोस्ती फेसबुक के माध्यम से स्कॉटलैण्ड निवासी फिलिप एडरसन से हुई। फिलिप एडरसन ने फोन कर रूचि को एक महंगा गिफ्ट पार्सल भेजने की बात कहीं। इस पार्सल में 42 लाख रुपए का सामान होने की बात कहकर टैक्स के बदले अपने खाते में दो बार में एक लाख तीस हजार रुपए डलवा लिए। पीड़िता ने पहली बार में 95 हजार रुपए तो दूसरी बार में पैंतीस हजार रुपए आरोपी के खाते में जमा करवाए। पीड़िता ने बताया कि आरोपी से फेसबुक पर दोस्ती के बाद वाट्सऐप के माध्मय से बातचीत भी होती थी। 42 लाख रुपए के लालच में आकर पीड़िता ठगी गई। ठगी का पता उसे रुपए जमा करवाने के बाद गिफ्ट पार्सल नहीं मिलने पर लगा। पुलिस ने बताया कि आरोपी ठग व पीड़िता की दोस्ती करीब छह माह पहले हुई थी। फिलहाल मामले की जांच एसआई उर्मिला द्वारा की जा रही है।

ऑनलाइन सामान बुक करवा कर डिलीवरी कंपनी से चार लाख की ठगी: इधर तिरूपति नगर बैनाड़ रोड निवासी अरूण सिंह ने मामला दर्ज करवाया कि वह एक ऑनलाइन कंपनी के सामान की डिलीवरी का काम करता है। एक युवक ने कुछ महंगे आइटम बुक करवाए थे। डिलीवरी बॉय सामान लेकर गया तो आरोपी ने मिलीभगत कर सामान अपने पास रख लिया और फिर सामान बदल कर उसे लौटा दिया। इससे कंपनी को करीब चार लाख रुपए का नुकसान पहुंचा दिया। सामान की जांच करने पर उसकी कंपनी को ठगी का पता चला। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
पुलिस के अनुसार सामान लेकर डिलीवरी बॉय फेमुदीन गया था। आरोपी ने ऑनलाइन कंपनी से आईफोन सहित अन्य महंगे आईटम बुक करवाएं थे। डिलीवरी से आरोपी ने सामान ले लिया और बदल कर वापस लौटा दिया। इससे कंपनी को तीन लाख 94245 रुपए का नुकसान हुआ है। विशेष अपराध व साइबर थाना पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। विशेष बात यह है कि साइबर ठगी से आमजन को बचाने के लिए गुरुवार को साइबर क्राइम इन्वेस्टीगेशन यूनिट ने 13 बिंदुओं वाली एडवायजरी जारी की है। यह एडवायजरी एसओटी व एटीएम की सयुक्त टीम ने जारी की थी। इसमें फोन पे में बेल आइकन, पेटीएम केवाईसी अपडेट व ओएलएक्स पर आर्मी मैन से सावधान रहने को कहा गया है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे