चारा घोटाला मामले में लालू प्रसाद का बयान दर्ज, तीन महीने में फैसला आने की संभावना!

www.khaskhabar.com | Published : गुरुवार, 16 जनवरी 2020, 8:15 PM (IST)

रांची। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव एक अन्य चारा घोटाले में अपना बयान दर्ज कराने के लिए गुरुवार को रांची स्थित सीबीआई की विशेष अदालत में पेश हुए। लालू प्रसाद को रांची स्थित राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (रिम्स) से सीबीआई कोर्ट ले जाया गया।

चारा घोटाला मामला संख्या आरसी 47ए/96 मामले में उनका बयान दर्ज किया गया। लालू प्रसाद यादव चारा घोटाला के चार मामलों में दोषी करार दिए जा चुके हैं। उन्हें 14 साल जेल की सजा सुनाई गई है। लालू प्रसाद चारा घोटाले से जुड़े छह मामलों में दोषी करार दिए गए हैं। इनमें से झारखंड के पांच मामलों में से चार में वे दोषी करार दिए जा चुके हैं।

पांचवें मामले की सुनवाई रांची स्थित सीबीआई कोर्ट में चल रही है। उनका बयान चारा घोटाला मामले में रांची के डोरंडा कोषागार से 139 करोड़ रुपए की कथित धोखाधड़ी से संबंधित मामले में दर्ज किया गया। इस मामले में अब तक 111 आरोपियों में से 107 के बयान दर्ज किए गए हैं, जिसकी सुनवाई सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एस.के. शशि कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

लालू प्रसाद के वकील प्रभात कुमार ने यहां संवाददाताओं से कहा कि मामले में फैसला तीन महीने में आने की संभावना है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री छह चारा घोटाला मामलों के आरोपी हैं। झारखंड के पांच मामलों में से चार में उन्हें दोषी ठहराया गया है। पांचवें मामले में रांची की विशेष सीबीआई अदालत में मुकदमा चल रहा है।

लालू प्रसाद को 30 सितंबर, 2013 को पहले चारा घोटाला मामले में दोषी ठहराया गया था। उन्हें चाईबासा कोषागार से धोखाधड़ी के संबंध में पांच साल जेल की सजा मिली थी। उन्हें दिसंबर 2017 में दूसरे मामले में दोषी ठहराया गया था, जो देवघर कोषागार से फर्जी निकासी से संबंधित था। इसके अलावा लालू को जनवरी 2018 में दो और मामलों में दोषी ठहराया गया और 14 साल जेल की सजा सुनाई गई।