जाकिर नाइक का वीडियो शेयर कर दिग्विजय ने मोदी-शाह को घेरा, भाजपा ने उठाए उल्टे सवाल

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 15 जनवरी 2020, 7:07 PM (IST)

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भारत में वांछित मुस्लिम धर्म उपदेशक डॉ. जाकिर नाइक का एक वीडियो शेयर कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। इस वीडियो में एक शख्स बोल रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने कुछ माह पूर्व मलेशिया में रह रहे नाइक से सहायता मांगी थी। मोदी और शाह ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद जाकिर नाइक से इसके समर्थन की बात कही।

इस वीडियो में बताया गया है कि नाइक के ऐसा करने पर सरकार उनसे जुड़े सभी केस वापस ले लेगी। दिग्विजय ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मा प्रधानमंत्री जी तथा मा गृह मंत्री जी को डॉ. जाकिर नाइक के आरोप का विधिवत खंडन करना चाहिए। यदि नहीं करते हैं तो यही माना जाएगा कि देशद्रोही डॉ. जाकिर नाइक का आरोप सही है। इससे पहले भी दिग्विजय ने ट्वीट कर भाजपा को घेरा था।

उन्होंने लिखा कि जो उनसे असहमत है. उसे मनाओ, नहीं मानता है तो उसे धमकी दो, फिर भी नहीं मानता है उसे पद या पैसे का लालच दो, फिर भी नहीं मानता है तो उस पर झूठे आरोप लगाकर बदनाम करो। मान जाता है तो सारे आरोप ख़ारिज और नहीं मानता है तो उस पर राष्ट्रद्रोही होने का आरोप लगाओ और खूब प्रचारित करो। यदि ऐसा मौका आता है जब उसका उपयोग किया जा सकता है तो वे वही करते हैं जिसका उल्लेख डॉ. जाकिर नाइक ने किया है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

वीडियो के वायरल होने के बाद भाजपा ने पलटवार किया है। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि दिग्विजय सिंह के पास ये खबर कहां से आई है। क्या वो जाकिर नाइक से जुड़े हुए हैं। क्या उनके तार जाकिर नाइक से जुड़े हुए हैं। दिग्विजय ने इसके जवाब में लिखा कि बिल्कुल गलत आरोप। कांग्रेस की ओर से कभी भी आधिकारिक रूप से जाकिर नाइक का समर्थन नहीं किया गया। यह सच है कि मैंने मुंबई में उनके मंच से एक सांप्रदायिक सद्भाव सम्मेलन संबोधित किया था, लेकिन आप सभी उस सम्मेलन में नाइक के भाषण को देख सकते हैं। किसी भी बिंदु पर उसने सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील बयान नहीं दिया।