Makar Sankranti 2020 : मकर संक्रांति को जरूर करें इन चीजों का दान, मोक्ष की होगी प्राप्ति

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 08 जनवरी 2020, 6:54 PM (IST)

हिंदू धर्म में मकर संक्रांति का पर्व बेहद खास माना जाता है, मकर संक्रांति के दिन भगवान सूर्य की पूजा और गंगा स्नान के साथ दान-पुण्य भी किया जाता है। इस दिन दान के नियम जानने आपके लिए बहुत जरूरी होता है।

अगर आप इन नियमों को नहीं जानते तो आपका दिया गया दान व्यर्थ ही चला जाएगा और आपको दिए हुए दान का कोई शुभफल प्राप्त नहीं होगा। मकर संक्रांति का त्योहार साल 2020 में 15 जनवरी 2020 को मनाया जाएगा तो चलिए जानते हैं मकर संक्रांति दान के नियम।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

मकर संक्रांति दान के नियम, जरूर करें इन चीजों का दान

(1) मकर संक्रांति को आप जो भी दान दे रहे हैं। वह किसी निर्धन व्यक्ति के घर जाकर ही दान करें। इससे आपको दान के उत्तम फलों की प्राप्ति होगी।

(2) अगर आप मकर संक्रांति को किसी गरीब, गाय, बीमार या किसी ब्राह्मण को दान करते हैं तो आपको इसके सबसे अधिक शुभ फल प्राप्त होंगे और यदि कोई इन लोगों को दान करना चाहता हैं तो आपको उसे रोकना भी नहीं चाहिए।

(3) दान का फल परिवार के सभी लोगों को प्राप्त होता है। इसलिए मकर संक्रांति के दिन करते समय खराब वस्तुओं का दान बिल्कुल भी न करें। ऐसा करने से आपको आपके परिवार को पुण्य फलों की प्राप्ति की जगह अशुभ फल प्राप्त होंगे।

(4) मकर संक्रांति को आप जिस भी वस्तु का दान उसे हाथ में लेकर ही दान करें। आप इस दिन तिल का दान करते वक्त अपने पित्तरों और अन्य किसी चीज का दान करते समय देवताओं का ध्यान अवश्य करें।

(5) मकर संक्रांति के दिन गौ का दान भी सबसे ज्यादा शुभ माना जाता है। अगर आप गाय का दान नहीं कर सकते तो आप किसी ब्राह्मण के पैर धोकर, किसी बीमार की सेवा करके और देवताओं की पूजा करके गौ दान का पुण्यफल प्राप्त कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें - घर के कई वास्तु दोष दूर करती है तुलसी

(6) मकर संक्रांति के दिन सोना, चांदी, विद्या, रत्न, अन्न, दूध, वस्त्र, घोड़ा, गाय, भूमि, तिल, छत्र, कन्या, और जरूरत के सभी समानों से युक्त घर का दान महादान कहलाता है। जो जीवन में भौतिक सुखों की प्राप्ति कराता है और मृत्यु के बाद मोक्ष की प्राप्ति कराता है।

(7) इस दिन दान देते समय इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि आप जब भी दान दे रहे हों उस समय आपका मुख पूर्व दिशा में हो और दान लेने वाले व्यक्ति का मुख उत्तर दिशा की और होना चाहिए।


ये भी पढ़ें - यह उपाय करने से शांत होंगे शनि दोष