हिमाचल प्रदेश: नवंबर में होंगे पंचायत चुनाव

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 08 जनवरी 2020, 4:42 PM (IST)

शिमला। प्रदेश में इस साल के पहले चुनाव पंचायतीराज के होंगे। प्रदेश की पंचायतों का कार्यकाल इसी साल दिसंबर को होने जा रहा है, लेकिन राज्य निर्वाचन आयोग इस प्रक्रिया को नवंबर माह में ही पूरी करने जा रहा है। दिसंबर माह में जनजातीय जिलों में खराब मौसम को ध्यान में रखते हुए नवंबर माह में ही चुनाव हो सकते हैं।


इसके लिए निर्वाचन आयोग ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। प्रदेश सरकार पंचायतीराज और शहरी निकायों के चुनाव एक साथ करवाने की सोच रही है, लेकिन एक्ट में संशोधन के बाद ही ऐसा संभव होगा। हालांकि नगर निगम धर्मशाला का चुनाव इसी साल दिसंबर में तय हैं, लेकिन नगर निगम शिमला के लिए डेढ़ साल का गैप पड़ेगा। ऐसे में शहरी निकाय के चुनाव भी एक साथ करवाने के लिए नगर निगम शिमला एक्ट में संशोधन करना पड़ेगा।


सरकार नगर निगम एक्ट में संशोधन कर सकती है, ताकि नगर निगम, पंचायतों, नगर परिषद, नगर पंचायतों का चुनाव एक साथ हो सकें। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2015 में प्रदेश की सभी पंचायतों सहित सभी शहरी निकायों में चुनाव हुए थे, जबकि नगर निगम शिमला का चुनाव 2017 को हुआ था। प्रदेश में नगर निगम शिमला और धर्मशाला के अलावा 52 नगर निकाय हैं। इन 52 नगर निकायों में 31 नगर परिषद और 21 नगर पंचायतें शामिल हैं।

इसके अलावा प्रदेश में 12 जिला परिषद और 78 पंचायत समितियां और 3226 ग्राम पंचायतें हैं। प्रदेश में ग्राम पंचायतों, पंचायत समितियों, जिला परिषदों व नगर निकायों में एक साथ चुनाव करवाने से 29324 पदों के लिए चुनाव एक साथ करवाने की तैयारी हो रही है।

3276 पंचायतों में इलेक्शन!
प्रदेश में इस साल होने वाले पंचायत चुनावों में 50 के करीब नई पंचायतें अधिक हो सकती हैं। यानी 3276 पंचायतों में चुनाव हो सकते हैं। हालांकि पंचायत पुनर्गठन का रास्ता साफ हो चुका है, लेकिन अंतिम मंजूरी के बाद ही असली तस्वीर सामने आएगी। इस महीने होने वाली कैबिनेट मीटिंग में नई पंचायतों पर मुहर लगेगी। बताया गया कि सौ प्रस्ताव में से 50 नई पंचायतें बन सकती हैं। यानी आने वाले समय में प्रदेश में 3226 से बढ़कर 3276 पंचायतें हो सकती हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे