CAA हिंसा पीड़ितों से मिलने के बाद प्रियंका गांधी बोलीं, जहां अन्याय हुआ,वहां हम खड़े रहेंगे

www.khaskhabar.com | Published : शनिवार, 04 जनवरी 2020, 12:08 PM (IST)

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा आज नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ उग्र प्रदर्शन में हिंसा में मारे गए और घायल हुए लोगों के परिजनों से मिली हैं। वहां पर वह हिंसा में मारे गए मृतक नूरा के परिजनों से मुलाकात की है।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों से मिली। मिलने के बाद उन्होंने कहा कि मैं मौलाना असद हुसैनी से मिली, जिन्हें पुलिस ने बेरहमी से पीटा था, नाबालिगों समेत मदरसा के छात्रों को पुलिस ने बिना किसी कारण के उठा लिया था, उनमें से कुछ को रिहा कर दिया गया था और कुछ अभी भी हिरासत में हैं। उन्होंने आगे कहा कि जहां अन्याया होगा, वहां हम खड़े रहेंगे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

प्रियंका गांधी, रुकैया परवीन और उनके परिजनों से भी मिली हैं। रुकैया के दादा के मुताबिक, नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान 20 दिसंबर को पुलिस उनके घर में घुसी थी। इस दौरान उनके साथ बर्बरता की गई। यही नहीं पुलिस पर घर में रखे सामान भी तोड़ने के आरोप लगाया है। रुकैया के दादा ने बताया कि उन्हेंने अपनी पोतियों की शादी के लिए सामान खरीदा था, जिसे पुलिस ने तोड़ दिया था। पुलिस पर गहने भी लूटने के आरोप लगाए। प्रियंका गांधी ने पुलिस की बर्बरता की कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि पीड़ितों की हर संभव मदद की जाएगी।



आपको बताते जाए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के सक्रिय होने को लेकर बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट करके तंज कसा था कि प्रियंका गांधी राजस्थान के कोटा जाकर देखना चाहिए कि वहां 100 से ज्यादा बच्चों की मौत हो गई है। क्योंकि वहां पर कांग्रेस की सरकार है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी प्रियंका गांधी पर सवाल उठाया था।