राज्य सरकार उच्चतर शिक्षा विभाग के संस्थानों में निरंतर सुधार के कदम उठा रही है- कंवर पाल

www.khaskhabar.com | Published : सोमवार, 09 दिसम्बर 2019, 7:10 PM (IST)

चंडीगढ़। हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने कहा कि राज्य सरकार अपने उच्चतर शिक्षा विभाग के संस्थानों में निरंतर सुधार के कदम उठाते हुए वर्ष 2020 तक सभी राजकीय महाविद्यालयों को नैक (नेशनल एसेसमेंट एंड एक्रिडेशन कांऊसिल) से एक्रिडेशन करवाने के लिए संकल्पबद्ध है और इसके लिए एक योजना तैयार की गई है। इसके अलावा, इन संस्थानों को एनआईआरएफ (नेशनल इंस्टीट्यूशनल रेंकिंग फ्रेमवर्क) से भी प्रमाण-पत्र लेने की दिशा में ठोस प्रयास किए जा रहे हैं।
शिक्षा मंत्री ने सोमवार को यहां बताया कि हरियाणा का उच्चतर शिक्षा विभाग प्रदेश के सभी उच्चतर शैक्षिक संस्थानों में समग्र सुधार की दिशा में कार्य कर रहा है और वर्तमान स्थिति में अभूतपूर्व परिवर्तन करने के लिए प्रयासरत है। विभाग ने ‘प्रयास’ नामक पोर्टल भी लाॅन्च किया है जो कि शैक्षिक संस्थानों की कमियों की पहचान करके उनको ठीक करने में सहायता करेगा। उन्होंने बताया कि इससे राजकीय महाविद्यालयों को नैक तथा एनआईआरएफ से एक्रिडेशन करवाने में मदद मिलेगी।
शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने आगे जानकारी दी कि ‘प्रयास’ पोर्टल की ग्रेडिंग में जहां 9 सरकारी महाविद्यालयों को ‘ए-प्लस’ ग्रेड, 24 महाविद्यालयों को ‘ए’ तथा 30 महाविद्यालयों को ‘बी-प्लस’ ग्रेड दिया गया है, सुधार की ओर यह एक सकारात्मक कदम माना जा रहा है।
उन्होंने बताया कि हरियाणा सरकार की कोशिश है कि वर्ष 2020 तक राज्य के सभी राजकीय महाविद्यालय नैक-ग्रेड हासिल कर सकें तथा साथ ही देश के टॉप-100 संस्थानों में से हरियाणा के कम से कम 5 संस्थान एनआईआरएफ का प्रमाण-पत्र लेने में भी सफल हो सकें।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे