गीता जयंती महोत्सव- विभिन्न कार्यक्रमों से बच्चों ने दिया गीता का संदेश

www.khaskhabar.com | Published : शनिवार, 07 दिसम्बर 2019, 5:57 PM (IST)

पंचकूला। गीता जयंती महोत्सव के दूसरे दिन को शनिवार को सेक्टर-1 स्थित जैनेंद्र गुरूकुल के सभागार में धूम-धाम से मनाया गया। स्कूल का सभागार दर्शकों से भरा हुआ था, आए हुए सभी दर्शकों ने बच्चों व कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किए गए क्रार्यक्रम का आनंद लिया और बच्चों की प्रस्तुति का तालियां बजाकर उत्साह बढ़ाया। क्रार्यक्रम में सार्थक स्कूल के साक्षी भजन, सकेतडी स्कूल की नृत्य प्रस्तुति, सांस्कृतिक विद्यालय के श्लोकाचारण, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल सेक्टर- 15 का नृत्य व भजन प्रस्तुति, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल सेक्टर-6 के हर्ष ठाकुर ने गीता से मैंने क्या सीखा व हरियाणा सांस्कृतिक विभाग द्वारा डेढ़ घंटे की कृष्ण लीला दिखाई गई। संस्कृतिक विद्यालय से श्लोकाचरण की प्रस्तुति, कुरूक्षेत्र से आए विशेष कलाकारों ने नृत्य प्रस्तुति के माध्यम से कृष्ण लीला व महाभारत की घटनाओं का मंचन किया व ढेरों तालियां बटोरी।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

गीता जयंती समारोह में रायपुररानी के श्रवण एवं वाणी निशक्त कल्याण केन्द्र के 15 बच्चों की टीम ने सुदामा कृष्ण एक्ट और मधुबन में कन्हैया नाचे ग्रुप डांस के माध्यम से समारोह में आए हुए सभी दर्शकों का मन मोह लिया और सभी ने तालियों से बच्चों का उत्साह बढ़ाया।
श्रवण एवं वाणी निशक्त कल्याण केन्द्र की सहायक निदेशक सीमा ने बताया कि ये वे बच्चें है जो सुन व बोल नहीं सकते फिर भी बच्चों को गीता जयंती में प्रस्तुति के लिए तैयार किया गया। कृष्ण कृपा परिवार की ओर से श्रवण एवं वाणी निशक्त कल्याण केन्द्र के बच्चों को प्रस्तुति के लिए 5100 रुपए का ईनाम दिया।

गीता संदेश वैन ने किया का प्रचार
जिला प्रशासन द्वारा गीता जयंती महोत्सव के अवसर गीता के संदेश का प्रचार करने वाली एलईडी वैन ने पिंजौर खण्ड के गावं को बीड़ घग्घर, चण्डीमदिंर, विराटनगर, इसरनगर, ईस्लामनगर, पतन, गणेशपुर, भोरीया, धतोगड़ा, जणोली, टोरण, नोलटा, पुवाणा, बक्सीवाला, नन्दपुर, किदारपुर, थापली, चण्ड़ी का वास, जटवाला, अम्बोवा में गीता के संदेश का प्रचार किया।
इस प्रचार वैन का उद्देश्य लोगों में भगवदभक्ति के प्रति अनुराग पैदा करना है। जिला के लोगों के प्रति अपने संदेश में उपायुक्त ने संदेश दिया कि भगवदगीता के मार्ग पर चलने से आतंरिक और बाहरी द्वेष समाप्त हो जाते हैं और व्यक्ति हिंसा और लालच की भावना से पूर्णतयः दूर हो जाता है। इस वैन के माध्यम से यही संदेश जिला के लोगों को दिया जा रहा है।