कांग्रेस सांसद कार्ति पी. चिदंबरम बोले- हैदराबाद मुठभेड़ में मार गिराना हमारी व्यवस्था पर धब्बा

www.khaskhabar.com | Published : शुक्रवार, 06 दिसम्बर 2019, 2:37 PM (IST)

चेन्नई। तमिलनाडु के शिवगंगा निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस सांसद कार्ति पी. चिदंबरम ने हैदराबाद में एक पशुचिकित्सक युवकी के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद उसकी हत्या करने के मामले के चारों आरोपियों को शुक्रवार को तेलंगाना पुलिस द्वारा मुठभेड़ में मार गिराए जाने की आलोचना की है। कार्ति ने एक ट्वीट में कहा, "दुष्कर्म एक जघन्य अपराध है। इससे कानून के प्रावधानों के तहत कड़ाई से निपटा जाना चाहिए। जबकि मैं इस नृशंस कृत्य के कथित अपराधियों के लिए कोई सहानुभूति नहीं रखता, लेकिन मुठभेड़ में मार देना हमारे व्यवस्था पर एक धब्बा है।"

उन्होंने कहा कि हालांकि मैं तुरंत न्याय मिलने के आग्रह को समझता हूं, लेकिन यह तरीका सही नहीं है । हालांकि, उनके ट्वीट पर कई ट्विटर यूजर्स ने नाराजगी भरी प्रतिक्रियाएं दी है।

तेलंगाना पुलिस ने शुक्रवार को राज्य के रंगा रेड्डी जिले के शादनगर के पास एक कथित 'मुठभेड़' में सभी चार आरोपियों को मार गिराया।

तेलंगाना मुठभेड़ पर कांग्रेस नेता हुसैन दलवई ने कहा है कि यह गलत है और इसका समर्थन नहीं किया जा सकता है। पुलिस अपने हाथों में कानून ले रही है और इसका मजाक नहीं बनाया जा सकता है। पूछताछ की जानी चाहिए। सिर्फ इसलिए कि कुछ लोग एनकाउंटर का समर्थन कर रहे हैं, यह सही नहीं है। यहां तक कि लिंचिंग का भी समर्थन करते हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे



आरोपियों को उस समय ढेर कर दिया गया, जब उन्होंने पुलिस से हथियार छीनने और भागने की कथित कोशिश की। पुलिस सूत्रों ने कहा कि उन्होंने आत्मरक्षा में यह कदम उठाया। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि बीते दिनों हैदराबाद में जो हुआ, फिर उन्नाव की घटना हुई इसी कारण अब इस एनकाउंटर पर लोग खुशी जता रहे हैं। लेकिन इससे जस्टिस सिस्टम पर भी सवाल खड़े होते जा रहे हैं, लोगों का एजेंसियों से भरोसा उठ गया है। ऐसे में समाज को चिंतन करना होगा और सरकारों को एक्शन लेना होगा।


पूर्व केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी ने पुलिस मुठभेड़ में मारने को लेकर सवाल खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि यह गलत है।एनकाउंटर इसका सॉल्यूशन नहीं है, आरोपियों को एक न्यायिक प्रक्रिया के तहत सजा मिलनी चाहिए। ये आरोपी तो थाने या जेल में होंगे, कहां भाग कर जा रहे थे।
वहीं राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्षा रेखा शर्मा ने मुठभेड़ पर कहा कि एक आम नागरिक के रूप में मैं खुश महसूस कर रही हूं कि यही वह अंत था जो हम सभी उनके लिए चाहते थे। लेकिन यह अंत कानूनी प्रणाली के माध्यम से होना चाहिए था। यह उचित चैनलों के माध्यम से होना चाहिए था।