अमित शाह का कांग्रेस पर हमला, गांधी परिवार क्याें लेना चाहती है SPG सुरक्षा

www.khaskhabar.com | Published : मंगलवार, 03 दिसम्बर 2019, 5:24 PM (IST)

नई दिल्ली। गृहमंत्री अमित शाह ने आज राज्यसभा में कांग्रेस पर हमला बाेलते हुए गांधी परिवार पर निशाना साधा है। अमित शाह ने कहा कि सरकार ने गांधी परिवार से सुरक्षा वापस नहीं ली है। सिर्फ बदलाव किया गया है, जो रक्षा मंत्री, गृह मंत्री और उपराष्ट्रपति और राष्ट्रपति को सुरक्षा मिली है, वही उनको भी मिली है। उन्होंने कहा कि कम्यूनिस्ट पार्टी को राजनीतिक बदले पर बोलने को कोई हक नहीं है केरल में बीजेपी-आरएसस के 120 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की हत्या हो जाती है, ये सिर्फ राजनीतिक बदले में होती है।

अमित शाह ने कहा कि प्रियंका वाड्रा के घर एक घटना हुई है। प्रियंका गांधी के घर जो सुरक्षा है इसमें राहुल गांधी, रॉबर्ट वाड्रा सुरक्षा जांच के बिना अंदर आते हैं। सुरक्षाकर्मियों के पास एक सूचना आई कि राहुल गांधी एक काली सफारी गाड़ी में आने वाले हैं, ठीक उसी समय एक काली सफारी गाड़ी आई और उसमें शारदा त्यागी कांग्रेस कमेटी खरगोरा मेरठ की नेता थीं। चूंकि समय भी वही था, इसलिए वह बिना सिक्यॉरिटी जांच के अंदर चली गईं। समय वही था और गाड़ी भी काली थी तो सिक्यॉरिटी एजेंसियों ने उन्हें जाने नहीं दिया। यह एक इत्तेफाक था, इसके बावजूद हमने इस मामले की उच्चस्तरीय जांच का आदेश दे दिए हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

इस मामले में तीन सुरक्षाकर्मियों को सस्पेंड भी कर दिया है। इस तरह की चीजों को गोपनीय रखा जाता है। इसकी जानकारी प्रेस को नहीं देनी चाहिए थी, अगर राजनीति करनी है तो प्रेस को दे सकते हैं, वरना एक गोपनीय पत्र मुझे भी लिख सकते हैं। गांधी परिवार एसपीजी की सुरक्षा लेने के लिए इतने लालायित क्यों हैं।

इससे पहले पार्टी के संगठन महासचिव वेणुगोपाल ने ट्वीट कर लिखा है कि तुच्छ राजनीतिक लाभ के लिए सरकार को किसी के जीवन को खतरे में नहीं डालना चाहिए। प्रियंका गांधी के आवास पर सुरक्षा में लगी सेंध से यह बात साबित होती है कि एसपीजी सुरक्षा हटाकर नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने हमारे नेताओं के जीवन को खतरे में डाल दिया है।

सूत्रों ने बताया था कि पिछले सप्ताह कुछ लोग बिना अनुमति के एक गाड़ी से प्रियंका के लोधी एस्टेट स्थित आवास में घुस आए थे। ये लोग प्रियंका के साथ सेल्फी खिंचाने को कह रहे थे। प्रियंका के कार्यालय ने इस मामले को सीआरपीएफ के समक्ष उठाया है।