पंत और सैमसन में से किसे मिलेगा मौका? कप्तान रोहित शर्मा ने दिया यह जवाब

www.khaskhabar.com | Published : शनिवार, 02 नवम्बर 2019, 5:33 PM (IST)

नई दिल्ली। बांग्लादेश के खिलाफ तीन मैचों की टी20 सीरीज में टीम की कप्तानी कर रहे रोहित शर्मा का मानना है कि टीम विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को पर्याप्त मौके देगी। बांग्लादेश के खिलाफ तीन मैचों की टी20 सीरीज के लिए भारतीय टीम में पंत के अलावा संजू सैमसन को भी शामिल किया गया है। यह पूछे जाने पर कि अंतिम एकादश में किसे मौका मिल सकता है, रोहित ने कहा कि पंत ज्यादा अनुभवी हैं और उन्हें और मौके देने की जरूरत है।

रोहित ने रविवार को यहां अरुण जेटली स्टेडियम में होने वाले पहले टी20 मैच की पूर्वसंध्या पर संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दोनों विकेटकीपर जो हमारी टीम में हैं बेहद ही प्रतिभाशाली हैं। हम पंत के साथ बने हुए हैं क्योंकि यही वो प्रारूप है जिसने उनको अलग पहचान दी है। हमें अभी कुछ और समय तक उनके साथ बने रहना चाहिए।

कप्तान ने कहा, हमें उन्हें थोड़े और मौके देने की जरूरत है। उन्होंने अभी मुश्किल से 10-15 टी20 मैच ही खेले हैं। इसलिए मुझे लगता है कि इतनी जल्दी उन्हें परखना थोड़ी जल्दबाजी होगी। उन्होंने साथ ही कहा, टीम में कई सारे विकल्प मौजूद हैं। हमें युवा खिलाडिय़ों को भी मौका देना चाहिए ताकि हमें उनके खेल के बारे में पता चल सके।

हालांकि मुझे लगता है कि आईपीएल और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में थोड़ा फर्क होता है और दोनों में चुनौतियां अलग होती है। संजू के अलावा शिवम दुबे ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्हें पहली बार भारतीय टीम में शामिल किया गया है। रोहित ने कहा, दरवाजे सभी के लिए खुले हैं। कोई भी किसी भी समय आकर खेल सकता है।

बांग्लादेश किसी भी टीम को हराने में सक्षम : रोहित


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

रोहित शर्मा का मानना है कि मेहमान टीम ने हमेशा भारत को दबाव में रखा है। बांग्लादेश की टीम घर से बाहर किसी भी टीम को हरा सकती है। बांग्लादेश की टीम अपने अनुभवी खिलाडिय़ों तमीम इकबाल और ऑलराउंडर शाकिब अल हसन के बिना ही भारत दौरे पर आई है। तमीम निजी कारणों से दौरे से हट चुके हैं जबकि शाकिब पर आईसीसी द्वारा दो साल का प्रतिबंध लगा हुआ है। रोहित ने कहा, बांग्लादेश की टीम बहुत ही मजबूत है।

हाल के वर्षों में हमने देखा है कि उन्होंने न केवल घर में बल्कि घर के बाहर भी किस तरह का प्रदर्शन किया है। खासकर, हमारे खिलाफ। उन्होंने हमेशा से हमें दबाव में रखा है, इसलिए इस टीम को हल्के में नहीं लिया जा सकता है। उनके पास युवा खिलाड़ी हैं, लेकिन हमारे लिए यह जरूरी है कि हम इस चीज पर ध्यान दें कि एक टीम के रूप में हमें क्या करने की जरूरत है।

हमारे पास भी एक युवा टीम है और कई सारे खिलाड़ी अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए तैयार हैं। बतौर कप्तान मेरा काम बेहद आसान है। विराट ने जहां इस टीम को छोड़ा है, मैं वहीं से इसे आगे ले जाना चाहता हूं। मैंने सीमित मौकों में जो कुछ किया है, वही मैं यहां भी करना चाहता हूं, जोकि विराट पिछली टीम के साथ कर चुके हैं। मैं केवल टीम को आगे लेकर जाना चाहता हूं।

ये भी पढ़ें - मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की टॉप-6 पारियां