मुख्यमंत्री ने गडकरी को लिखा पत्र, रिफाइनरी प्रोजेक्ट के लिए इस योजना को शीघ्र बनाने का किया आग्रह

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 11 सितम्बर 2019, 8:16 PM (IST)

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान के पचपदरा में लगने वाली राष्ट्रीय महत्व की रिफाइनरी सह पेट्रोकेमिकल कॉम्पलेक्स परियोजना के उत्पादों के सुचारू परिवहन एवं यात्रियों की सड़क सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-25 पर एक व्यापक यातायात प्रवाह प्रबंधन योजना शीघ्र बनाने के लिये केन्द्रीय सडक परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को पत्र लिखा है।

यात्रियों की सुरक्षा के लिए 6 लेन चौड़ा हो एनएच-25

गहलोत ने गडकरी से अनुरोध किया है कि इस यातायात प्रबंधन योजना में रिफाइनरी प्रोजेक्ट के आस-पास के क्षेत्रों में एक माल परिवहन गलियारा बनाने के साथ ही राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-25 के जोधपुर-बाड़मेर के पूरे सेक्शन को 6 लेन चौडा किया जाए। साथ ही यात्रियों एवं वाहन चालकों की सुविधा के लिये पार्किंग, विश्रामगृह, रेस्टोरेंट, भारी वाहनों की मरम्मत के लिये सर्विस स्टेशन, ईंधन स्टेशन आदि सुविधाएं विकसित करने के उद्देश्य से सर्विस लेन बनाने का प्रावधान भी इस योजना में शामिल किया जाए। उन्होंने कहा है कि वे इस परियोजना के राष्ट्रीय महत्व को देखते हुए यातायात प्रवाह प्रबंधन योजना के तत्काल क्रियान्वयन के लिये आदेश प्रदान करें।

2 एमएमटीपीए के पेट्रो उत्पादों का सड़क मार्ग से होगा परिवहन

मुख्यमंत्री ने पत्र के माध्यम से गडकरी को अवगत कराया कि परियोजना का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है और अक्टूबर-2022 तक इसके पूरा होने का अनुमान है। इस परियोजना में लगभग 5 एमएमटीपीए के पेट्रोलियम उत्पाद तथा 4 एमएमटीपीए के पेट्रोकैमिकल प्रोड़क्ट्स का उत्पादन होने की संभावना है। इनमें से 2 एमएमटीपीए के उत्पाद सडक मार्ग द्वारा ही परिवहन किये जाएंगे। साथ ही यहां पेट्रोकैमिकल आधारित एक औद्योगिक केन्द्र स्थापित करने की भी योजना है। इनके उत्पादों, कच्चा माल तथा अन्य उत्पाद जैसे जिप्सम, लाइमस्टोन, सल्फर, स्टील, सीमेंट, भारी उपकरणों आदि का परिवहन भी सड़क मार्ग के जरिये होगा।

रोज गुजरेंगे एक हजार से अधिक ट्रक एवं टैंकर

गहलोत ने बताया कि रिफाइनरी सह पेट्रोकैमिकल प्रोजेक्ट के निर्माण के दौरान तथा इसके शुरू होने के बाद बडी संख्या में भारी वाहनों का आवागमन बढेगा और पब्लिक तथा प्राइवेट ट्रांसपोर्ट में भी तेजी से वृि़द्ध होगी। इस प्रकार करीब एक हजार ट्रक एवं टैंकरों का इस सेक्शन से प्रतिदिन आवागमन होगा। वर्तमान में एनएच-25 का यह सेक्शन बिना डिवाइडर के 2 तथा 4 लेन में ही संचालित हो रहा है। यातायात बढने पर इससे यात्रियों की सुरक्षा खतरे में पडेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि परियोजना के संचालन में इन तथ्यों को दृष्टिगत रखते हुए भावी आवश्यकताओं के अनुरूप केन्द्र सरकार शीघ्र ही एक समग्र योजना बनाकर इसके तत्काल क्रियान्वयन की कार्यवाही करने और एनएच-25 को 6 लेन तक चौडा करने के आदेश प्रदान करे।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे