स्टार्टअप और युवा उद्यमियों के योगदान से भारत बनेगा 5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था : अनुराग सिंह ठाकुर

www.khaskhabar.com | Published : बुधवार, 04 सितम्बर 2019, 5:26 PM (IST)

धर्मशाला। केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट अफ़ेयर्स राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर अपने एकदिवसीय गुजरात दौरे पर गुजरात विश्वविद्यालय के स्टार्टअप और आंत्रपेन्योर अवार्ड समारोह में बतौर मुख्यअतिथि उपस्थित होकर 22 युवा उद्यमीयों को पुरूस्कृत किया व भारत को आर्थिक महाशक्ति बनाने के लिए मोदी सरकार के प्रयासों से छात्रों को अवगत कराया।

अनुराग ठाकुर ने कहा” भारत एक तेज़ी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है जिसमें यहाँ के उद्योग जगत,युवा उद्यमियों और एमएसएमई सेक्टर का बहुत बड़ा योगदान है। मोदी सरकार युवा उद्यमियों के लिए पर्याप्त अवसर उपलब्ध कराने, उनकी शिकायतों का अतिशीघ्र निष्तारण करने के लिए प्रतिबद्ध है। स्टार्टअप ना केवल उत्पाद और सेवाओं के क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है बल्कि रोज़गार के भी पर्याप्त अवसर उपलब्ध करवा रहा है।

हालिया पेश बजट में मोदी सरकार ने साल 2025 तक भारत की अर्थव्यवस्था को बढ़ाकर 5 ट्रिलियन की इकॉनमी बनाने का लक्ष्य रखा है जिसे हासिल करने में एमएसएमई सेक्टर और युवा उद्यमियों की महत्वपूर्ण भूमिका रहने वाली है।मुझे पूरा विश्वास है कि आपसी भागीदारी से हम ये लक्ष्य हासिल करने में जरूर सफल होंगे।”

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

अनुराग ठाकुर ने कहा”आज 21 वी सदी में जब दुनिया एक ग्लोबल विलेज बन चुकी है और विकास की इस दौड़ में दुनिया का हर देश आर्थिक मोर्चे पर अपनी उपस्थिति सुदृढ़ करने में जी जान से जुटा हुआ है। हम भी पीछे नहीं हैं और भारत आर्थिक महाशक्ति बनने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है।

जब देश की अर्थव्यवस्था का आकर बढ़ता है तो प्रति व्यक्ति आय भी बढती है,खरीद क्षमता बढ़ती है, फिर डिमांड बढती है, डिमांड पूरा करने के लिए उत्पादन बढ़ता है, तो उससे रोजगार पैदा होता है, इससे अतिरिक्त आमदनी बढ़ती है तो प्रति व्यक्ति बचत भी बढती है.ऐसे में इन तरीकों के सही तरीके से क्रियान्वयन करने के लिए और इस प्रक्रिया में सहयोग देने के लिए स्कूलों और कालेजों में वित्तीय साक्षरता को बढ़ाने,की बहुत आवश्यकता है।”