Triple Talaq Bill :मुस्लिम MP बोले, पत्नी को गोली मारने से बेहतर तलाक देकर रुखसत करें

www.khaskhabar.com | Published : गुरुवार, 25 जुलाई 2019, 1:15 PM (IST)

नई दिल्ली। तीन तलाक बिल (Triple Talaq Bill ) को लेकर लोकसभा में कानून मंत्री रविशंकर (
Law Minister Ravi Shankar Prasad) ने चर्चा के लिए रख दिया है। अब इस पर चर्चा शुरू हो गई है। यहां से मंजूरी मिलने के बाद इसे राज्यसभा में पेश किया जाएगा। इसी दौरान समाजवादी पार्टी के सांसद एसटी हसन सदन से बाहर कंटाेवर्सी बयान देते हुए कहा कि बीवी को गोली मारने से बेहतर तीन तलाक देकर रुखसत करना है। उन्होंने आगे कहा कि बीवी को गोली मारने से अच्छा है कि उसे तलाक दे दें। किसी भी मजहब के निजी मामले में सरकार को हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। एक साथ तीन तलाक को सभी लोग नहीं मानते और एक महीने का गैप रखा जाता है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

समाजवादी पार्टी के सांसद ने आगे कहा कि कभी-कभी ऐसे हालात होते हैं कि अलग होना ही रास्ता होता है तो गोली मारने से बेहतर है कि तीन तलाक देकर महिला को निकाल दिया जाए। सिर्फ हजरत अबू हनीफा को मानने वाले फिरके के लोग ही एक साथ तीन तलाक लेते हैं। यह लड़की वालों पर ही छोड़ दिया जाए कि अबू हनीफा को मानने वालों के यहां शादी करें या नहीं।



पीडीपी के सांसद नजीर अहमद (PDP MP Nazir Ahmad ) ने कहा कि मैं तीन तलाक बिल को लेकर विरोध में हूं। मैं मुस्लिम के नाते इसके खिलाफ हूं। सरकार को जो करना है करे, लेकिन हमें बर्दाश्त नहीं करेंगे ।

तीन तलाक के बील पर भाजपा के राज्यसभा सांसद ने राकेश सिन्हा ने कहा कि यह महिला विरोधी नजरिया है। तीन साल सजा को लेकर सवाल उठाने वाले लोगों को यह सोचना चाहिए कि दहेज उत्पीड़न रोकथाम कानून के तहत 7 साल की सजा का प्रावधान है।