चित्तौड़गढ़ में गांधी जीवन दर्शन प्रदर्शनी ने दर्शाया जबर्दस्त आकर्षण

www.khaskhabar.com | Published : गुरुवार, 11 जुलाई 2019, 9:10 PM (IST)

जयपुर। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती वर्ष के उपलक्ष में चित्तौड़गढ़ के इन्दिरा प्रियदर्शिनी ऑडिटोरियम में गुरुवार को आयोजित गांधी जीवन दर्शन प्रदर्शनी ने जबर्दस्त आकर्षण बिखेरा। हजारों लोगों ने महात्मा गांधी के जादुई व्यक्तित्व से भरे जीवन की अद्भुत झांकी के दर्शन कर धन्य अनुभव किया।

प्रदर्शनी का उद्घाटन शहीद चन्दनसिंह की पत्नी मानकंवर एवं अन्य शहीदों के परिजनों ने फीता काटकर, महात्मा गांधी की तस्वीर पर पुष्पान्जलि अर्पण तथा दीप प्रज्वलित कर किया। इस दौरान जिला कलक्टर शिवांगी स्वर्णकार, जिला पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल, मुख्य कार्यकारी अधिकारी नम्रता वृष्णि, राज्य सरकार द्वारा मनोनीत महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के संयोजक दिलीप नेभनानी, पूर्व विधायक सुरेन्द्रसिंह जाड़ावत, समाजसेवी मांगीलाल धाकड़ आदि अतिथियों ने भी महात्मा गांधी की तस्वीर पर पुष्प अर्पित किए।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

सभी अतिथियों ने महात्मा गांधी के सम्पूर्ण जीवन चक्र व ऎतिहासिक क्षणों से संबंधित सचित्र विवरण का अवलोकन किया। प्रदर्शनी में कुल 26 बोडर््स के माध्यम से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सम्पूर्ण जीवन दर्शन, व्यक्तित्व एवं कार्यों, उपदेशों आदि को दर्शाया गया है।

सभी अतिथियों ने प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए इसकी सराहना की और कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का समग्र जीवन और उपदेश वर्तमान सामाजिक परिवेश में प्रेरणा का संचार करेंगे और उनकी शिक्षाओं से सीख लेकर नई पीढ़ी समाज और देश के लिए और अधिक समर्पण के साथ नवनिर्माण में भागीदारी निभाएगी।

महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के संयोजक, राज्य सरकार द्वारा आयोजन के लिए मनोनीत प्रतिनिधि दिलीप नेभनानी ने इस मौके पर सभी अतिथियों को इस आयोजन के बारे में जानकारी दी।

प्रदर्शनी शुभारंभ अवसर पर शहीदों के परिवारजनों, गांधी दर्शन समिति के सह संयोजक पीयूष त्रिवेदी, करणसिंह सांखला, समिति के सदस्य एवं गांधीवादी विचारक लक्ष्मीलाल उपाध्याय, गोपाल सालवी, शंकर प्रजापत, मोहम्मद आबिद, कमलेश डेलावत, नवरतन पटवारी, प्रेमप्रकाश मून्दड़़ा, त्रिलोक जाट, अतिरिक्त जिला कलक्टर मुकेश कुमार कलाल एवं विनय पाठक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखदेव जांगिड़, नगर विकास न्यास के सचिव सीडी चारण, जिला रसद अधिकारी ज्ञानमल खटीक, तीन दिवसीय आयोजन के नोडल अधिकारी (मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी) हरिकृष्ण आचार्य सहित जन प्रतिनिधि, जिलाधिकारी, कर्मचारी, विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने भी प्रदर्शनी का विस्तार से अवलोकन किया और इस आयोजन के लिए राज्य सरकार की सराहना की।

प्रदर्शनी उद्घाटन अवसर पर परंपरागत नागर धाकड नाट्य लोक कला संगीत सेवा संस्थान , देवरी के लोक कलाकार लक्ष्मीनारायण रावल के निर्देशन में लोक कलाकारों के समूह ने ढोल एवं शहनाई वादन से अतिथियों का स्वागत किया।