आपातकाल की बरसी पर मोदी, शाह का ट्वीट, लोकतंत्र का गला घोंटा गया

www.khaskhabar.com | Published : मंगलवार, 25 जून 2019, 11:45 AM (IST)

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आपातकाल के दौरान लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के लिए संघर्ष करनेवालों को याद किया। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर आपातकाल के दौर को दिखानेवाले वीडियो को शेयर करते हुए कहा कि तानाशाही मानसिकता के खिलाफ आवाज उठानेवाले सभी नायकों को भारत आज भी याद करता है।

पीएम ने ट्वीट करते हुए कहा कि भारत उन सभी महान लोगों को सलाम करता है जिन्होंने आपातकाल के खिलाफ मुखरता और निडरता के साथ संघर्ष किया। भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों ने तानाशाही मानसिकता का सफलता से सामना किया।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी ट्वीट कर आपातकाल में संघर्ष करनेवालों को याद किया। शाह ने ट्वीट कर कहा कि 1975 में आज ही के दिन मात्र अपने राजनीतिक हितों के लिए देश के लोकतंत्र की हत्या की गई। देशवासियों से उनके मूलभूत अधिकार छीन लिए गए और अखबारों के कार्यालयों पर ताले लगा दिए गए। लाखों राष्ट्रभक्तों ने लोकतंत्र को पुनर्स्थापित करने के लिए अनेकों यातनाएं सहीं। मैं उन सभी सेनानियों को नमन करता हूं।

आपको बताते जाए कि आपातकाल के दौरान विपक्ष के कई दिग्गज नेता जयप्रकाश नारायण लालकृष्ण आडवाणी, जॉर्ज फर्नांडिज, शरद यादव समेत कई दिग्गज नेताओं को जेल भी डाल दिया गया था। 1977 में आपातकाल हटाने के बाद हुए चुनावों में इंदिरा गांधी की जबरदस्त हार हुई थी। देश में पहली बार जनता पार्टी के नेतृत्व में नई सरकार का गठन हुआ था।