ममता का बांग्‍ला कार्ड, पश्चिम बंगाल में रहना है तो बंगाली बोलनी होगा

www.khaskhabar.com | Published : शुक्रवार, 14 जून 2019, 4:41 PM (IST)

कोलकाता। लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद पश्चिम बंगाल में बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़पों से तनाव का माहौल जारी है। बीजेपी और टीएमसी में आरोप-प्रत्यारोप के बीच वहां राजनीतिक हिंसा हो रही है। इस बीच सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक नया दांव चला है।

ममता बनर्जी ने विपक्षी दलों पर हमला बोलने के लिए 'बांग्‍ला कार्ड' खेला। बाहरी लोगों के बहाने बीजेपी पर निशाना साधते हुए ममता ने कहा कि अगर आप बंगाल में हैं तो आपको बांग्‍ला बोलना होगा। उन्‍होंने कहा कि मैं ऐसे अपराधियों को बर्दाश्‍त नहीं करुंगी जो बंगाल में रहते हैं और बाइक पर घूमते हैं। ममता ने यह भी कहा कि वह पश्चिम बंगाल को गुजरात नहीं बनने देंगी।

बंगाल में बीजेपी की पकड़ मजबूत होता देख ममता ने अब बंगाली कार्ड खेला है। ममता बनर्जी का कहना है कि बीजेपी बाहर से गुंडों को लाकर राज्य में माहौल खराब कर रही है। लेकिन वो इस तरह कि किसी भी हरकत को बर्दाश्त नहीं करेंगी। एक कार्यक्रम के दौरान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि हमें बंगला भाषा को आगे बढ़ाना चाहिए। जब मैं बिहार, यूपी और पंजाब जाती हूं, तो मैं उनकी भाषा में बात करती हूं, अगर आप बंगाल में हो तो आपको बंगला बोलना होगा।

इससे पहले ममता बनर्जी ने कल रात को दावा किया कि बीजेपी ने हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनाव के दौरान अधिकांश ईवीएम में पहले से ही अपने हिसाब से प्रोग्रामिंग की थी। उन्होंने सभी विपक्षी दलों से सच उजागर करने के लिए तथ्यान्वेषी टीम बनाने का अनुरोध किया।

ममता ने एक बांग्ला समाचार चैनल को दिए इंटरव्यू में हैरानी जताते हुए कहा कि बीजेपी के नेता चुनाव के नतीजे घोषित होने से पहले ही लगभग वास्तविक आंकड़ों का अनुमान कैसे लगा सकते हैं। वे कैसे कह रहे थे कि देश में उन्हें 300 से ज्यादा और बंगाल में 23 सीटें मिलेंगी। अंतिम परिणाम उनके आकलन के करीब ही थे। दरअसल लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने राज्य में शानदार प्रदर्शन करते हुए 42 में से 18 संसदीय सीटें जीती।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे